*झाबुआ~खुद दीपक की तरह जगमगाकर,कोरोना अंधकार को दूर भगाया*~~

*2 माह का पुलिस थाने का रिपोर्ट कार्ड*~~

झाबुआ से जिला ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा...9685952025~~

झाबुआ - जहां एक ओर देश-दुनिया में फैले कोरोना वायरस से पेनिक हो रहे हैं वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस संकट और संक्रमण के दौर में अपनी सेफ्टी को ताक पर रखते हुए जनता के लिए जरूरी सेवाओं में जुटे हुए हैं। जब हम 2 माह के सख्त लॉक डाउन में अपने घरों में परिवार के साथ मौज मस्ती और नए नए व्यंजनो का लुफ्त उठा कर परिवार के साथ अपनत्व का सुख भोग रहे थे वही...देश राज्य के साथ झाबुआ जिला पुलिस ऐसे दुश्मन से लड़ रही थी जो अदृश्य है ओर दिखाई नहीं देता लेकिन देशभक्ति जनसेवा के साथ पुलिस ने कोरोनावायरस से दो दो हाथ करते हुए अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद रहे.. जनता के लिए दिन भर दौड़ भाग करने और जनता के लिए हमेशा आगे रहने वाली पुलिस का दर्द भला किसको दिखा.. दिनभर चेकिंग इन्वेस्टिगेशन ट्रैफिक व्यवस्था के साथ दबिश जैसी ड्यूटी से पुलिसकर्मियों की जिंदगी में तनाव तो रहा लेकिन तनाव ओर परिवार बच्चो माँ बाप पत्नी भाई से दूर ड्यटी कर रहे जबाजो ने कभी दर्द को आँखों से झलकने नही दिया। पुलिसवाले के दर्द दुख तकलीफ को क्या जमाने ने पूछा....? इन दो माह में पुलिस ने ड्यूटी ऐसी की लगता है जैसे पुलिस वाले कभी बीमार ही नहीं होते पुलिस वाले के घर जैसे कोई शादी ब्याह का प्रोग्राम नहीं होता क्या आप जानते हैं चुस्त-दुरुस्त माने जाने वाले पुलिसकर्मी भी तनाव और ब्लड प्रेशर शुगर की चपेट में थे.. लेकिन फिर भी वह अपने फर्ज पर अटल रहे।आज हम आपकी मुलाकात अपनी लेखनी के माध्यम से कुछ ऐसे ही लोगों से करवा रहे हैं, जो हैं कोरोना के दौर के असली हीरो है।कोरोना वायरस की वजह से लोग घरों में कैद हो रहे हैं। लोगों ने जरूरी चीजें स्टोर कर ली हैं और बाहर कम से कम निकल रहे हैं। लेकिन इस सब के बीच कुछ लोग ऐसे हैं जो अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद हैं। झाबुआ जिले के पुलिस कप्तान विनीत जैन की आम जनता की कोविड 19 रोकथाम के लिए विनती, एडिशनल एसपी विजय डावर की कोरोना वायरस से विजय के प्रयास,थांदला अनुभाग पुलिस अधिकारी मनोहर गवली की पुलिस महकमे से ड्यूटी पर डेट रहने के लिए मनुहार, तो वही नारी शक्ति स्वरूपा मेघनगर थाना प्रभारी कौशल्या चौहान का कौशल पिछले दो माह कोविड-19 रोकथाम की ड्यूटी में साफ दिखाई दिया।

*2 महा का पुलिस थाना मेघनगर का रिपोर्ट कार्ड*

जिला पुलिस अधीक्षक विनीत जैन के निर्देशन एवं एसडीओपी मनोहर गवली के मार्गदर्शन में मेघनगर थाना प्रभारी कोशल्या चौहान ने काबा और कैलाश के पवित्र निर्मल जल की तरह सतत अविरल धारा में बहते हुए.. कानून व्यवस्था को बनाए रखने में महती भूमिका निभाई....पुलिस ने कोविड-19 से ही आमजनता की रोकथाम नही की बल्की थांदला अनुभाग भयमुक्त रख अपराधों पर भी अंकुश लगाकर आम जनता की सुरक्षा की। मेघनगर थाने में 2 हत्या के मामले पंजीबद्ध हुए.. दोनों ही दर्ज हत्याओं के आरोपियों को पकड़ लिया गया, हत्या के प्रयास के 2 मामले पंजीबद्ध हुआ जिसमें भी पुलिस ने सफलता हासिल कर दोनो  मामलों के आरोपियों को गिरफ्तार किया। 2 वाहन चोरी हुई पुलिस ने दोनों ही वाहनों को ट्रेस कर चोरों को गिरफ्त किया, 188 भादवी के 4 अपराध दर्ज हुए जिसमें भी आरोपियों को पकड़ लिया गया। अन्य छोटे अपराध 28 दर्ज किए गए जिसमें 28 आरोपियो की गिरफ्तारी हो गई। बलात्कार, लूट ,डकैती जैसे गंभीर कोई भी मामले मेघनगर थाने पर दर्ज नही हुए। मर्ग मुस्तफा,आत्महत्या के 10 मामले दर्ज हुए उसमें भी थाना प्रभारी ने समझाइस, काउंसलिंग और परिवारों को ढांढस बंधाने में मेघनगर पुलिस पीछे नहीं रही..वही यदि मोटरसाइकिल, चार पहिया वाहन व्हीकल एक्ट में चालानी कार्रवाई की बात करें मेघनगर थाने ने इसमे भी बड़ी सफलता हासिल की खबर लिखे जाने तक लगभग 800 चालान व 366350 रुपिये की राशि मेघनगर थाने में वसूल कर सरकार के खजाने में डाली। उक्त कार्यों की प्रशंसा जिला पुलिस कप्तान के साथ नगर एवं ग्रामीण के रहवासी समाजसेवी हर कोई कर रहा है अंत में पुलिस के लिए मीडिया भी कह रहा है...पत्थर खाकर भी खड़ा रहा,वो लहू बहाकर अड़ा रहा,दवा गोली खाकर जो पड़ा रहा, परिवार से दूर रहकर कोविड-19 में भी पुलिस फर्ज निभा कर  खड़ा रहा.....पुलिस,पुलिस,पुलिस.....सेल्यूट..!


Post A Comment:

0 comments: