*बड़वानी~देश के सभी कोरना वारियर्स पुलिस कर्मी, स्वास्थ कर्मी स्वछ कर्मियों एवम सभी कर्मयोद्धाओ के सम्मान में 23 युवकों ने किया रक्तदान* ~~

*बड़वानी ।* जय बिरसा रक्तदान समिति के अनिल परिहार ने बताया कि  देश में चल रहे लॉकडाउन के चलते    अस्पतालो में आने वाले मरीजो को ब्लड लिये अत्यधिक परेशान हो होना पड़ रहा है । इन्ही परेशानियो को देखते हुए कुक्षी से 20 किमी दूर ग्राम चिपराटा के युवा अनिल परिहार ने अपने जन्मदिवस के उपलक्ष्य में बड़वानी के जिला अस्पताल में रक्तदान शिविर का आयोजन सभी कोरना योद्धाओ का सम्मान करते हुए अपना जन्म दिवस जिला ब्लड बैंक बड़वानी पहुंचकर  मनाया।  जन्मदिवस के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजिय किया। जिसमें सरकार के आदेश का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए समिति के 23 सदस्यों ने भी उत्साह के साथ रक्तदान किया। समिति के पंचालाल बर्डे ने बताया कि लॉकडाउन के चलते बड़वानी जिला अस्पताल में रक्त की कमी की वजह से मरीजों को बहुत परेशानी उठानी पड़ रही है। प्रतिदिन मरीजो को कई समस्याओं से जूझना पड़ रहा था। मरीजों को परेशानी न हो इसलिए समिति सदस्यों ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया जिसमें आज 23 युवा साथियो ने रक्तदान किया। जिसमे 1 नारी शक्ति कु भावना राठौड़, ने एवम  दीपक मुजाल्दे, संतोष चौहान,विजय गोर, अजय भिड़े, सचिन जामोद, सरदार जामोद, सचिन पटेल, ज्योतिरादित्य डावर, दिनेश जमरे, रेलसिंग जमरे, कमल अछालिया, नोंगा जमरे, सुनील जमरे, कलम चौहान, रमेश नरगावे, प्रेमलाल नरगावे, कन्हैया सोलंकी, अनिल जमरे,रितु,आदि ने रक्तदान किया ।
आज रक्तदान की जन जागृति में निसरपुर मनावर और पलसूद एवम बड़वानी से युवाओ ने सोशल डिस्टेंसिनग का पालन करते हुए रक्तदान करने पहुंचे इस अवसर पर मनावर से सुनील जी वास्कले भी अपने 2 साथियों को लेकर बड़वानी पहुंचे थे   रक्तदान की जन जागृति में जिला ब्लड बैंक के श्री फ़रीद शेख जी ललित लाड जी शैलेन्द्र भाई मनीष पांचाल जी  एवम लॉयन्स क्लब सिटी बड़वानी के राम जाट जी एवम बड़वानी के श्री राजू सोनी जी का विशेष सहयोग
सुभाष चन्द्र बोस रक्तदान समिति सेंधवा ने प्रदान किया
इस अवसर पर सभी रक्तदाताओ के उत्साहवर्धन के लिए बड़वानी जिले की जयस प्रमुख श्री मति सीमा वास्कले दीदी एवम अन्य साथ उपस्थित थे
*जन्मदिवस उत्सव नही, परोपकार का दिन है :-* युवा अनिल परिहार का कहना है की जन्मदिवस को लोग अति उत्साह के साथ उत्सव के रूप में मनाते है और हजारो रुपये व्यर्थ खर्च करते है । जबकि जन्मदिवस का दिन एक उत्सव नही बल्कि परोपकार करने का दिन होता है । हमे इस विशेष दिन पर गरीब, असहाय लोगो के काम आ सके ऐसा कार्य करना चाहिए । अनिल का कहना है की दुनियाभर के वेज्ञानिको ने दुनिया में अनेको चीजो का निर्माण कर दिया है लेकिन कोई भी वैज्ञानिक अब तक रक्त का अविष्कार नही कर सका, जिससे व्यक्ति को जीवनदान मिलता है । इसलिये सभी को हर तिन माह में रक्तदान करना चाहिए ।
अंत मे सभी रक्तदाताओ को जय बिरसा रक्तदान समिति के पंचालाल भाई बर्डे ने सभी का आभार माना


Post A Comment:

0 comments: