*मनावर ~महावीर की करूणा को हम अपनाते तो देश में कभी कोरोना नहीं आता मुनिश्री हितेशचंद्रविजयजी मःसाः*~~

*तमिलनाडु के सेलम नगर में 23 वें ध्वजारोहण किया गया* ~~

निलेश जैन मनावर ~~

संघ और समाज की यशोकीर्ति सर्वत्र सदा फैलती रहे।आज के इस वर्तमान दौर में हमें संगठीत होने की अत्यंत आवश्यकता है। गरीब अमीर के इस फासले को हटाकर सिर्फ मानवता को मन में जागृत करने का वक्त आ गया है। हमने अब तक अपने आपको ईष्र्यालु- झगडालु-अभिमानी जैसा भी मन को बनाना था बना लिया पर अब समय में परिवर्तन आ गया। अब तो हमें सिर्फ परमात्मा महावीर के आदर्श का पालन करना होगा। तभी हमारा मानव भव सफल होगा।उक्त विचार संयमवय स्थवीर मालवकेसरी मुनिप्रवर श्री हितेशचंद्रविजय जी मसा ने व्यक्त किए। वे सेलम में आदिनाथ जिनमंदिर के 23 वें वार्षिक ध्वजारोहण अवसर पर धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। आपने कहा कि आज वैज्ञानिक भी इस बात हो मान रहे है कि अगर संपूर्ण राष्ट्र महावीर- राम- कृष्ण-बुद्ध की करूणा वाली राह पर चलता तो इस धरा पर कोरोना जैसा महाभयंकर रोग नहीं आता। ध्वजा का विशेष महत्व मुनिश्री ने कहा कि जिनशासन में ध्वजा का विशेष महत्व है। ध्वजा का शिखर पर लहराना ही शासन की प्रगति का मार्ग प्रशस्त करता है। आज हमें प्रार्थना करना है कि शासन की प्रगति के साथ में संपूर्ण राष्ट्र में फैल रही कोरोना जैसी महाभयंकर रोग का निवारण हो। राष्ट्र में प्रसन्नता एवं खुशहाली का वातावरण बने। राष्ट्र पुनः समृद्ध बनें। ध्वजा फहराई धर्मसभा के पश्चात मुनिश्री ने महामांगलिक श्रवण करवाई। इस अवसर पर ज्योतिषरत्न मुनिराज श्री दिव्यचंद्रविजयजी मसा भी उपस्थित थे। मंदिरजी के शिखर पर संघवी प्रकाशराज राजमल गोल परिवार ने ध्वजा फहराई। श्री आदिनाथ जैन नया मंदिर ट्रस्ट के मनोहरकुमार, सोहनलाल, बाबुलाल द्वारा लाभार्थी परिवार को बहुमान किया गया। ध्वजा पूजन विधिकारण प्रकाश गुरूजी ने संपन्न कराई चातुर्मास की विनंती की
इस अवसर पर सेलम श्रीसंघ द्वारा आगामी वर्ष 2020 का चातुर्मास सेलम में करने की भावभरी विनंती की। उल्लेखनीय है कि मुनिद्वय की कोरोना लाॅकडाउन के कारण विगत डेढ माह से सेलम में स्थिरता है। पूर्व में मुनिद्वय का चातुर्मास मुदराई में घोषित हो चुका है।


Post A Comment:

0 comments: