*मनावर ~धार जिले के कालीबावड़ी से बड़वानी जा कर किया रक्तदान*~~
             
*जिला मुख्यालय बड़वानी में बी पोजिटिव ब्लड न मिलने से परिवार हो रहा था परेशान*~~

*कोरोना महामारी बीमारी के बीच कालीबावड़ी से बड़वानी 80 कि: मीटर दूर पहुचकर डिलेवरी पेसेंट महिला को दिया ब्लड*~~

निलेश जैन मनावर ~~

धार जिले में कोरोना वायरस की लॉक डाउन के बीच आज 14 मई को मरीज भगवतीबाई उम्र 20 वर्ष को रक्त देकर जीवनदान दिया गया। ग्राम कालीबावड़ी के युवा पत्रकार निक्की राठौड़ द्वारा 80 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय बड़वानी के शासकीय अस्पताल बड़वानी पहुचकर पीड़ित महिला को ब्लड दिया गया। महिला के परिजनों द्वारा ब्लड बैंक व बड़वानी में काफी प्रयास करने पर भी ब्लड नहीं मिला पीड़ित परिवार ने व्हाट्सअप ग्रुप के माध्यम से माँ नर्मदा रक्तदान परिवार खलघाट के सदस्य गणेश राठौड़ से संपर्क किया। गणेश राठौड़ को जैसे ही जानकारी मिली उन्होंने तत्काल रक्तवीर निक्की राठौड़ से फ़ोन पर चर्चा की ओर मानवता का परिचय देते हुए रक्तदान करने के लिए तैयार किया गया। वह कालीबावड़ी से 80 किलोमीटर दूर दोपहर 1 बजे गर्मी में ही बड़वानी के शासकीय ब्लड बैंक बड़वानी में पहुँच कर पीड़ित जरूरतमंद मरीज के लिए रक्तदान किया निक्की राठौड़ का यह अपने जीवन में अब तक तीसरी बार रक्तदान किया।
*निक्की राठौड़ ने कहा कि* रक्तदान महादान है। जब भी तीन माह पूर्ण हो जाए आप जहा पर भी रहो अपने आसपास की ब्लड बैंक में पहुँच कर रक्तदान करना चाहिए। रक्तदान करना हमेशा से ही अच्छा माना गया है। इस दान से लोगो की जिंदगी बचती है, साथ ही स्वास्थ भी बिल्कुल ठीक रहता है।लेकिन आमतौर ओर लोगो के दिमाग मे यह गलत धारणा होती है की रक्तदान करने से कमजोरी आती है। आपको बता दे कि ऐसा कुछ भी नही होता है रक्तदान से शरीर को नुकसान नही बल्कि कई सारे फायदे भी होते है। इस कदम से किसी की जान बच पायी।हम सभी को मिलकर आगे आना हैं और रक्तदान के प्रति आमजन में व्याप्त गलत धारणाओं को उखाड़ फेंकना हैं।आप सभी भी जरूरतमंद मरीज के सहयोग के लिए आगे आये। रक्तदान करके देखो अच्छा लगता है। रक्तविर जितेंद्र राठौड़,राहुल राठौड़,गणेश राठौड़,विनीत राठौड़,सुनील राठौड़, अंश विजयवर्गीय, सचिन प्रजापत,रविन्द्र कुशवाह,हर्ष कुशवाह,डॉ राहुल कुशवाह,गोविंद सिसोदिया,प्रखर कर्मा,अशोक राठौड़ आदि ने रक्तविर भाई को बधाई दी।


Post A Comment:

0 comments: