*झाबुआ~श्रमिक ट्रेन पर भोजन वितरण व्यवस्था को लेकर जयस संगठन ने नाराजगी व्यक्त की*~~

*गुणवत्ताहीन खाने को लेकर कलेक्टर से की जांच की मांग*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्यूरो....9039452025~~

झाबुआ - पश्चिम रेलवे स्टेशन मेघनगर पर पिछले 6 दिनों में लगभग 16 हजार यात्री मध्य प्रदेश के 35 से अधिक राज्यों के लोग घर वापसी कर रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री द्वारा प्रत्येक मजदूर को भोजन मुहैया कराने के आदेश है लेकिन इसके विपरीत मेघनगर प्रशासन की व्यवस्था एवं ठेकेदार की मनमानी जगजाहिर हो रही है। मजदूरों को ठीक समय पर भोजन नहीं दिया जाता श्रमिक मजदूरों को गुणवत्ता विहीन भोजन एवं भोजन की मात्रा भी ठीक से वितरित नहीं हो रही है जिसको लेकर गुरुवार को जयस संगठन  मेघनगर टीम के दिनेश वसुनिया माधु सिंह डामोर रमसू डांगी राकेश मुनिया  संतोष मुनिया मुकेश वसुनिया रेलवे स्टेशन पर  भोजन वितरण की सामग्री को लेकर प्रशासनिक अधिकारी से गुणवत्ता एवं क्वांटिटी सुधारने की चर्चा की जयस संगठन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाए की भोजन बनाने का ठेका टेंडर प्रक्रिया से नहीं हुआ है इतना ही नहीं जो भी बिना टेंडर के भोजन बना रहे हैं उसमें किसी आदिवासी समाज के व्यक्ति को अवसर क्यों नहीं दिया जबकि नगर के आस पास कई आदिवासी समाज के लोग हलवाई का काम करते हैं । संगठन के पदाधिकारियों ने यह भी आरोप लगाया कि वर्तमान भोजन बना रहे ठेकेदार द्वारा जहां पर भोजन बनाया जा रहा है वह जगह साफ सूत्री नहीं होकर पूरी गंदगी फैली हुई है और ना ही ठेकेदारों के पास फूड के लाइसेंस थे यदि ऐसी स्थिति में फूड प्वाइजन जैसी कोई समस्या उपलब्ध होती है तो आखिर इसका जिम्मेदार कौन रहेगा ना ही ठेकेदारों के पास वास्तविक भोजन बनाने की फर्म है नाही जीएसटी नंबर है ऐसी स्थिति में भोजन की स्थिति एवं गुणवत्ता कैसे आकी जाएगी ना ही कोई अधिकारी उस जगह को जाकर समुचित सामग्री एवं जगह को चेक कर रहे हैं की जगह उस लायक है या नहीं सामग्री किस किस्म की है ऐसी स्थिति में हर व्यक्ति ठेकेदार बनने के लिए लालायित हो रहा है जिसने कभी जीवन में झारी भी ना पकड़ी हो वह व्यक्ति पूरी सब्जी पूड़ी की सप्लाई करने के लिए लालायित हो रहा है। जयस संगठन ने आगामी दिनों में यदि व्यवस्था ठीक नहीं कि गई तो  पुरजोर विरोध करने की चेतावनी दी है


Post A Comment:

0 comments: