*झाबुआ~खबर का असर*~*सब्जी,फल व्यापारियों की मांग पर, स्थाई सब्जी मैदान का हुआ स्थान परिवर्तन*"~~

*सब्जी एवं फल व्यापारीयो ने ज्योति नटवर बामनिया का कर रहे धन्यवाद*~~

*खिल उठे चेहरे बिक रही है दशहरा मैदान पर फल एवं सब्जियां अभी भी कुछ मांग की दरकार*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्युरो...9685952025~~

झाबुआ - कोविड-19 महामारी के चलते लॉक डाउन मैं केंद्र व राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार 18 मई को जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा ने जिले में व्यापारियों को राहत देते हुए नियम और शर्तों के हिसाब से आंशिक छूट प्रदान की गई थी। लेकिन सब्जी व्यापारियों के लिए मेघनगर के बाहर उत्कर्ष मैदान के पीछे  स्थाई सब्जी मैदान तय किया गया था....साथ ही उक्त आदेश में सब्जी फल व्यपारियो को ठेले से फेरी लगाकर या सिर पर टोकरी रखकर घर पहुंच सेवा देना थी। सब्जी व्यापारियों ने 18 मई के आदेश के बाद अस्थाई दुकान लगाकर फेरी लगाना प्रारंभ की तो कई महिलाओं ने सिर पर टोकरी लगाकर घर पहुंच सेवा दी लेकिन शहर के बाहर उत्कर्ष मैदान के पीछे कोई भी व्यापारी सब्जी का दुकान लगाने के लिए नहीं पहुंचा। इसका प्रमुख कारण यह था कि प्रशासन द्वारा तय किए हुए मैदान पर सब्जी उपभोक्ता नहीं पहुंचते हैं ! व इतनी भीषण गर्मी मैदान में परिषद द्वरा पानी के प्याऊ या फिर व्यापारियों के लिए छाया दान की सुविधा नही थी। इस कारण सब्जी व्यापारियों ने सब्जी की दुकान स्थाई उत्कर्ष मैदान के पीछे नहीं लगाई। घर पहुंच सेवा में सब्जी नहीं बिकने से रोज-रोज सब्जियां शाम होते फेंकना पढ़ती थी। अब सब्जी व्यापारियों को नगर के मध्य स्थाई मैदान की दरकार थी उक्त पूरे मामले को नगर की मीडिया बेहतर ढंग से अपने अखबारों वेब पोर्टल एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर पूरी ताकत के साथ प्रकाशित किया था। जिसके बाद  जनप्रतिनिधि सब्जी एवं फल व्यापारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर समस्याओं को दूर करने के लिए आगे आए।

*सब्जी एवं फल व्यापारीयो ने ज्योति नटवर बामनिया का कर रहे धन्यवाद*

असली जनप्रतिनिधि वही होता है जो जनता के दुख में जनता के हितों के लिए आगे आए वैसा ही दृश्य गुरुवार को सुबह देखने को मिला जब प्रशासन दल बल के साथ नगर में सब्जी की फेरी लगा रहे फल सब्जी व्यापारियों को तितर-बितर करने निकला तभी सब्जी व्यापारियों ने फिर से नगर परिषद अध्यक्ष पति नटवर बामनिया को इसकी सूचना दी नटवर बामनिया सब्जी व्यापारियों के साथ स्थानीय दशहरा मैदान पहुंचे और जिला कलेक्टर को दूरभाष पर समस्या से अवगत कराया। जिला कलेक्टर ने नगर के एसडीएम एवं सीएमओ को सब्जी एवं फल व्यापारियों की सुविधा देने की जानकारी चाही जिसके बाद नटवर बामनिया एवं नगर के मीडिया में  प्रशासनिक अधिकारियों  से चर्चा कर दशहरा मैदान का स्थान तय करने की ओर घ्यान आकृष्ट करवाया। ज्योति नटवर बामनिया की इस पहल का सब्जी और फल व्यापारियों ने तहे दिल से आभार प्रकट किया है।

*खिल उठे चेहरे बिक रही है दशहरा मैदान पर फल एवं सब्जियां अभी भी कुछ मांग की दरकार*

नगर की ह्रदय स्थली दशहरा मैदान पर सब्जी एवं फल के ठेले लगने से फिर बाजार गुलजार हो गया सब्जी एवं फल व्यापारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने ठेले दशहरा मैदान पर लगाए और आगामी दिनों में भी शासन प्रशासन के नियमों का पूर्णता पालन करते हुए सैनिटाइजर मुंह पर मास्क लगाना व उपभोक्ता की सुविधाओं के साथ सब्जियों का व्यापार करेंगे।लॉक डाउन में पिछले 2 माह से सब्जि, फल व्यापारी की कमर टूटने के बाद एक बार फिर से सब्जि फल व्यापारियों के चेहरे खिल उठे हैं। अब सब्जी व्यापारियों ने इस पहल में नगर की ज्योति नटवर बामनिया, नगर की मीडिया एवं प्रशाशन का भी आभार प्रकट किया है.. व मांग की है कि दशहरा मैदान स्थाई सब्जी मैदान पर एक सार्वजनिक प्याऊ ठंडे पानी का प्रारंभ किया जाए । फल एवं सब्जी व्यापारियों के लिए टेंट या टिन शेड छायादान की व्यवस्था नगर परिषद की ओर से स्थाई रूप से की जाए।अब इन चुनौतियों में सब्जि फल व्यापारियों को आत्मनिर्भर बनाने में नगर परिषद कितनी सुविधाएं उपलब्ध कराता है.. वह देश के प्रधानमंत्री और मध्य प्रदेश के मुख्य मामा शिवराज के सपनों को साकार करता है। यह आने वाले दिनों में देखना होगा।


Post A Comment:

0 comments: