*झाबुआ~आखिर सच को क्यों झूठ करना चाहते अधिकारी~~

*पद का दुरुपयोग कर जनपद अध्यक्ष पति को क्यों किया जा रहा बदनाम*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्युरो...9685952025~~"* 

झाबुआ - झाबुआ जिले के मेघनगर ग्राम पंचायत मदरानी में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत बने नवीन शौचालय निर्माण में जांच हेतु जिले से पंकज डावर लेखा अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ , मुकेश चौहान जिला ऑडिटर मनरेगा जिला पंचायत, श्रीमती रजनी मेडा ब्लॉक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम जनपद मेघनगर को आदेश क्रमांक 2537 से जांच दल गठित किया गया। जांच दल मदरानी ग्राम में बने शौचालयों की जांच करने के पूर्व मेघनगर जनपद पंचायत में पहुंचा जहां जिला टीम में गठित दो अधिकारी ने मेघनगर से टीम की तीसरी सदस्य को टीम में सम्मिलित करने के लिए मेघनगर जनपद कार्यालय पहुंचा। टीम के अधिकारियों की मुलाकात जनपद अध्यक्ष पति से भी हुई उन्होंने स्वतंत्र रूप से जांच में सहयोग करने की बात झाबुआ से आए अधिकारियों के समक्ष रखी उस समय मेघनगर के कुछ मीडिया साथी भी वहां पर उपस्थित थे ! तत्पश्चात जांच दल के तीनों अधिकारी वाहन से मदरानी की ओर रवाना होते हैं.. और थोड़ी देर के बाद मेघनगर जांच दल से सम्मिलित हुई महिला अधिकारी को बीच रास्ते में उतार कर पुनः मेघनगर से ही झाबुआ लौट जाते हैं ! आखिर ऐसी कौन सी वजह थी जो मीडिया की उपस्थिति अधिकारियों को नागवार गुजरी जबकि मेघनगर जनपद के सी.ओ वीरेन्द्र रावत व जाँच टीम की एक महिला अधिकारी एवं मदरानी के सचिव सरपंच भी मौके पर जाकर शौचालय की गुणवत्ता एवं स्थिति का जायजा लिया तो सब कुछ मदरानी ग्राम में बने शौचालयों में ठीक पाया। जिसकी सूचना मेघनगर जनपद की ओर से मीडिया को भी दी गई अब आखिर पद का दुरुपयोग कर मंत्री व सरपंच पर जांच के नाम पर दबाब बनाकर मेघनगर जनपद की बदनामी क्यों की जा रही है इसका राज तो साहब से बेहतर और को नहीं बता सकता।

*वर्जन बॉक्स जांच अधिकारी*

जब जांच करने मेघनगर जनपद पहुंचा तो मेघनगर जनपद कार्यलय में उपस्थित मीडियाकर्मियों ने भी साथ में चलने की बात कही हमे कही जिस कारण जांच करने में परेशानी हो सकती थी।इस वजह से हम मेघनगर से जांच किए बिना झाबुआ लौट गए। अब हमें इस मामले की जांच नहीं करना। उच्च अधिकारी इसकी जांच करेंगे।
""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
मुकेश चौहान जिला ऑडिटर मनरेगा जिला पंचायत झाबुआ

अध्यक्ष पति ने जांच दल की टीम को किसी भी विषय में डराया धमकाया या रोक-टोक नहीं की मुझे जांच दल के 2 सदस्यों ने बीच रास्ते में छोड़ कर जरूरी काम आज आने की वजह से जांच करने ना जाकर पुनः झाबुआ लौटने की बात कहकर रास्ते में वाहन से उतार दिया।
"""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
श्रीमती रजनी मेडा ब्लॉक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम जनपद मेघनगर


Post A Comment:

0 comments: