*धार /रिंगनोद से जुडे एक दो नही पुरे ग्यारह और कर्मवीरो की कहानी आठ आरक्षक दो आर्मि जवान तो एक चिकित्सक सभी ने कहा जित निश्चित है बिल्कुल मुस्कुराएगा हमारा भारत पढीये कर्मवीरो की बडी कहानी हमारी जुबानी*~~

अनुराग डोडिया रिंगनोद~~

वर्तमान समय मै धीरे धीरे दैश ईस महामारी से उभर रहा है वही पुलीस प्रशाषन स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य सहयोगी लाँकडाउन को सफल बनाने और सबके स्वास्थ्य की रक्षा करते हुए सामाजिक दुरी का पालन करवाकर शाषन के सभी निर्देशो का पालन करवा रहे है वही                                                                         

(1) ग्राम पिपरनी के डाँ. दिलिप सतपुडा वर्तमान मै धार मै अपनी सेवाएं प्रदान कर रहै है रिंगनोद मै भी अपने क्लिनिक पर लम्बे समय से अपनी सेवाएं आमजन को देते रहै है ईनका कहना है एसा मौका बार बार नही मिलता स्वयं पर गर्व महसुस होता है कि हमे यह सेवाकार्य करने का अवसर प्राप्त हुआ क्षत्रिय सिर्वि समाज और गांव को गर्व हुआ यह मैरे लिए बहुत बडी बात है                      


(2)  ईसके बाद हम बात करते है अर्पित सिंह पिता विजयसिहं चौहान कि जोकी मूल रुप से रिंगनोद के नही किन्तु ईन्होने अपनी सम्पूर्ण शिक्षा और तैय्यारी रिंगनोद से ही प्राप्त कि ईनके दादा स्व. श्री सिताराम चौहान ने अपनी पुरी उम्र रिंगनोद मै रहकर जनसेवा मै ही व्यतित की जिन्हे पुरा नगर और आस पास के लोग बाबुजी के नाम से पहचानते थे जिनको नही पता कि वे अबहमारे बीच नही वे आज भी उनके निवास पर आते है और ताला लगा पाकर पुछते है बाबुजी कहा गए वे जनसेवा के लिए सदैव तत्पर रहते थे अर्पित ने पुलीस सेवा मे जाने को ही अपना लक्ष्य बनाकर तैय्यारी और मेहनत की और आरक्षक पद पाकर अपने लक्ष्य को प्राप्त किया वर्तमान मै ये अपनी सेवाएं महैश्वर मै प्रदान कर रहै है भावुक होते हुए अर्पित ने विचार न्युज को बताया कि जिस प्रकार मैरे दादा ने जनसेवा को ही अपना लक्ष्य बनाकर सारी उम्र कार्य किया आज मुझे भी उन्ही के आशिर्वाद से जनसेवा का यह सुअवसर और खासकर एसी परिस्थितियो मै मिला है ईस कार्य से हम तो गर्व महसुस करते ही है साथ ही गांव और परिवारजन माता पिता हमारे कार्यो पर गौरवान्वित हो ईससे खुशी की बात और कोई हो नही सकती         
(3) राहुल पिता हिरालाल अलावा जो वर्तमान मै ठिकरी थाना पर आरक्षक के रुप मै पदस्थ है मूल रुप से पडियाल के लैकिन ईनकी भी सम्पूर्ण शिक्षा रिंगनोद मै ही पूर्ण हुई ईनके पिता हिरालाल अलावा ने भी काफी लम्बे समय तक अपनी सेवाएं शिक्षक के रुप मे दी है और वर्तमान मै भी दे रहै है अपने पुत्र पर ईन्है गर्व है कि उनका पुत्र आज दैश के काम आ रहा है राहुल कहते है कि पुलिस सेवा मै जाते ही हमने अपनी जान दैश को समर्पित कर दी थी बस आप लोग सुरक्षित रहै बाहार ना निकले                                 
(4) रिंगनोद के ही उजाडिया से राजु पिता रिछु सिंह जामोद वर्तमान मै पेटलावद एसडीओपी कार्यालय मै आरक्षक के रुप मै अपनी सेवा प्रदान कर रहै है ईनका कहना है ड्युटी चाहे कार्यालयीन हो अथवा थाने पर प्रतिदिन क्षैत्र मै जाना होता है जन सेवा और देश भक्ति ही हमारा नारा गांव की चिन्ता जरुर होती है लैकिन कार्य पहले सभी स्वस्थ और सुरक्षित रहै यही कामना 
(5) राकेश पिता शेरसिह अलावा जो वर्तमान मै तैजाजी नगर ईन्दौर मै रिंगनोद नगर गौरव सब ईन्स्पेक्टर अमृतलाल गवरी जिनकी खबर विचार न्युज पुर्व मै प्रकाशीत कर चुका है के साथ आरक्षक के रुप मै अपनी सेवाएं दे रहै है ईनके पिता भी काफी लम्बे समय से शिक्षक के रुप मै अपनी सेवाएं रिंगनोद मे दे रहै है  
(6) जोहैब पिता शराफत हुसैन जो वर्तमान मै आरक्षक के रुप मै अपनी सेवाएं एरोड्रम रोड ईन्दौर मै प्रदान कर रहै है जब ईनसे विचार न्युज संवाददाता ने पुछा की ईन्दौर को रेड जो़न मै रखा गया है मन मै किसी प्रकार का कोई भय तो ईन्होने बताया कि भय तो दुर ईतनी खुशी जब से नौकरी की है आजतक नही मिली बस जनसहयोग से हम ईस जंग को जीत सकते है रमजान के ईस पाक महिने मै बस यही दुआ है कि जितनी जल्दी हो दैश ईस महामारी से पुरी तरह नीकल आए हमारे गांव और दैश के लोग सुरक्षित और स्वस्थ रहै जल्द गांव आना होगा                                           
(7) राजु पिता गनपत जामोद उजाडिया रिंगनोद के रहवासी है जो वर्तमान मै खरगोन जिले के भीकनगांव तहसील से विधायक झुमाजी सोलंकी के गनमैन (पर्सनल सिक्योरिटी आँफीसर) के रुप मै सेवाएं प्रदान कर रहै है ईससे पुर्व बालाघाट और सरदारपुर भी अपनी सेवाएं दे चुके है राजु बताते है कोवीड -19 की विशेष ड्युटी मै तो नही लैकीन  लैकिन क्षैत्र भ्रमण के कार्य मै लोगो को समझाईश अवश्य देते है कि अपना और अपनो के स्वास्थ्य का ध्यान रखे हाथो को साबुन से धोएं घर पर ही रहै                                              
(8) उजाडीया रिंगनोद के दरबार पिता धुमसिह जमरा जो वर्तमान मै रिंगनोद नगर गौरव नगर निगम उपायुक्त विकास सोलंकी रतलाम जिनकी भी खबर विचार न्युज पुर्व मै प्रकाशित कर चुका है के कार्यक्षैत्र रतलाम मै आरक्षक के रुप मै अपनी सेवाएं दे रहै है                                
(9) कनसिह पिता हरसिह भाभर ये भी उजाडीया रिंगनोद के निवासी है और आरक्षक के रुप मै वर्तमान मै झाबुआ जिले मै अपनी सेवाएँ प्रदान कर रहै है          
(10) राहुल पिता कैलाश बघेल जो की भारतीय सेना मै (आर्मि) मै जम्मू काश्मिर मै अपनी सेवाएँ प्रदान कर रहै है और रिंगनोद उजाडीया के निवासी है 
           
(11) हिन्दु उत्सव समिति रिंगनोद से गगर गौरव का सम्मान प्राप्त कर चुके रिंगनोद के पुखराज पिता भगवान सिहं चौहान जो कि भारतीय सेना (आर्मि) मै कार्यरत है और वर्तमान मै अपनी सेवाएं दिल्ली मै प्रदान कर रहै है राजपुत समाज रिंगनोद को ईनपर गर्व है उनका कहना है सरहद की सेवा हो या जनसेवा पुलीस जवान और स्वास्थ्यकर्मी सदैव तत्पर है  *कर्मवीरो की समस्त ग्रामजनो से साझा विशेष अपिल*---------अंत मै सभी कर्मवीरो ने विचार न्युज के माध्यम से सभी से साझा अपिल की है कि रिंगनोद को लैकर मन मै एक विश्वास है की धर्म कर्म सामाजिक सद्भावना सबकुछ हमारे क्षैत्र मै है ईश्वर सदैव रक्षा जरुर करेगा रिंगनोद हमारा भी गांव है सभी घर पर रहै सुरक्षित रहै स्वस्थ रहै लाँकडाउन का पालन करे यही अपील और ईश्वर से यही प्रार्थना कि शिघ्र ईस महामारी से पूर्णतः निजात मिले निश्चित रुप से जित होगी फिर मुस्कुराएगा ईण्डिया हारेगा कोरोना हम सब मिलकर हराएंगे ग्रामजन अपना और अपने परिवार का ध्यान रखे गांव की याद तो आती है किन्तु जनसेवा हमारा प्रथम कर्तव्य विचार न्युज रिंगनोद अपने पाठको से ईस खबर के प्रकाशन मै होने वाले विलम्ब के लिए क्षमाप्रार्थि है ताजा खबरो के लिए बने रहिए हमारे साथ अपने अपने घरो मै रहै स्वस्थ रहै सुरक्षित रहै विचार न्युज की और से समस्त कर्मवीरो को शत शत नमन रिंगनोद नगर को भी आप सभी पर गर्व है


Post A Comment:

0 comments: