हरदा /खिरकिया ~सप्ताह में एक बार कुछ घंटों के लिए परिवार से मिल पाती है खिरकिया  तहसीलदार अलका एक्का~~

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए टीम के साथ सतत निगरानी जारी~~

अंकुश विश्वकर्मा हरदा ~~

हरदा/ खिरकिया । कोरोना वायरस संक्रमण महामारी से हरदा जिले की सुरक्षा करने में यहाँ के अधिकारी- कर्मचारियों की महती भूमिका है, जो कोरोना योद्धा बनकर अपने कर्तव्य पथ पर डटे हुए हैं। खिरकिया तहसीलदार अलका एक्का इसका एक प्रमुख उदाहरण है। खंडवा जैसे रेड ज़ोन जिले से सटे खिरकिया क्षेत्र में प्रशासन के समक्ष कई चुनौतियां थी जिनसे लड़ने एवं उनका समाधान निकालने में  एक्का हर मोर्चे पर तैनात रही। चार जगहों पर चेक पोस्ट बनाकर निगरानी करने के बाद जब कच्ची सड़कों से लोगों के जिले में अवैध प्रवेश की जानकारी मिली तो उनके द्वारा कई जगहों पर जेसीबी द्वारा ये अवैध रास्ते खुदवाए गए। महाराष्ट्र से पैदल चलकर आने वाले मज़दूरों के लिए भोजन और रूकने की व्यवस्था करने से लेकर अन्य जिलों से लौटकर आने वाले व्यक्तियों को सख्ती से क्वारंटीन करने तक सभी क्षेत्रों में तहसील में अच्छा कार्य किया जा रहा है। साथ ही लॉकडाऊन के दौरान समय पर आवश्यक दुकानों को खुलवाने एवं बन्द करवाने की जिम्मेदारी भी बखूबी  निभाई जा रही है। तहसीलदार एक्का ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने के लिए राजस्व एवं पुलिस टीम द्वारा सतत भ्रमण किया जा रहा है। पूरी टीम द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा हैं। वरिष्ठ अधिकारियों का मार्गदर्शन भी निरंतर प्राप्त हो रहा है। एक्का के पति भोपाल में है। वहीं उनकी माताजी एवं बहन हरदा में है जिनसे वे सप्ताह में एक बार कुछ घंटों के लिए मिल पाती है। परिवारजनों को संक्रमण का खतरा न हो, इसीलिये दूर से ही मिलकर लौट आती हैं। संकट की इस घड़ी में अपने कर्तव्य को निभा रहे ऐसे कोरोना वॉरियर्स के प्रति हरदा जिला सदैव आभारी है।


Post A Comment:

0 comments: