धार/ बाकानेर~क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक में धार विधायक श्रीमति नीना वर्मा ने जिला प्रशासन को कई सुझाव दिए~~

सैयद रिजवान अली बाकानेर ~~

धार ~कोरोना महामारी से निपटने हेतु लगाये गये देशव्यापी लाॅक डाउन की समय सीमा दिनांक 03 मई 2020 को समाप्त होने जा रही है किन्तु जिले के तीन नगरीय क्षेत्रों में 48 कोरोना पाजीटिव होने से आगामी दिनों में सावधानी रखना होगी।इस हेतु धार विधायक श्रीमति नीना विक्रम जी वर्मा ने क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक में जिला प्रशासन को विभिन्न विषयों को लेकर निम्न सुझाव दिए।

1.भारत सरकार की नवीन गाईड लाईन अनुरूप जिले के ग्रामीण क्षेत्र जहां एक भी कोरोना मरीज नही है, वहां चरणबद्ध रूप से छुट प्रदान की जाना चाहिए। सर्वप्रथम आवश्यक वस्तुओं यथा दवाई, किराना, दुध की दुकानों तथा कृषि से संबंधित व्यवसाय पर छुट प्रदान की जाना चाहिए। जिसमें सोशल डिस्टेसिंग सुनिश्चित किये जाने का दायित्व संबंधित दुकानदार का निर्धारित किया जाना चाहिए। 
2.ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न शासकीय योजनाओं में स्वीकृत निर्माण कार्याे को प्रारंभ करवाया जाना उचित होगा ताकि ग्रामीणों को रोजगार मिल सके। साथ ही जिले के जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों में जो मजदुर अन्य क्षेत्रों से अपने-अपने गांव पहुचें है, वहां मनरेगा योजना में कार्यो की स्वीकृति प्रदान कर कार्य प्रारंभ करवाया जाये ताकि ग्रामीणों को अपने गांव में ही रोजगार उपलब्ध हो सके।
3.बी.पी.एल. परिवारों को तीन माह का राशन दिया जा चुका है किन्तु वर्तमान में इस लाॅकडाउन समय में ए.पी.एल. परिवारों को भी राशन की आवश्यकता होने लगी है, इस हेतु उचित होगा कि शासन से ए.पी.एल. परिवारों हेतु भी राशन का कोटा प्राप्त कर उचित मूल्य की दुकानों से  ए.पी.एल. परिवारों को भी राशन का विक्रय किया जाय।
4.पीथमपुर क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया को छोडकर अन्य क्षेत्रों को झोन में बांटकर उन क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ती हेतु पृथक-पृथक झोन यथा इण्डोरामा, सागौर, सागौर कुटी और पीथमपुर झोन में  पृथक-पृथक समय पर छुट प्रदान कर आम नगारिको को किराणा, दुध व दवाईयों की आपूर्ती करवायी जाय।
5.औद्योगिक इकाईयों में कोरोना से बचाव हेतु शासन द्वारा जो मापदण्ड निर्धारित किये गये है उनका पालन सुनिश्चित करने हेतु ओद्यौगिक इकाईयों के प्रतिनिधियो, जनप्रतिनिधियो व प्रशासनिक अधिकारियों की एक जिला स्तरीय समिति निर्मित करते हुए उस समिति की पाक्षिक बैठक आयोजित की जाना सुनिश्चित किया जावे।
6.दिनांक 3 मई के पश्चात शासकीय कार्यालयों में भी कार्य प्रारंभ होंगे।ऐसे में शासकीय कर्मचारियों में 55 वर्ष से अधिक के कर्मचारियों को वर्तमान में उपस्थित होने हेतु आदेशित नही किया जावे। विभागवार कर्मचारियों को दो ग्रुप में विभाजित करते हुए उनका कार्य विभाजन किया जाय तथा उनकी पाक्षिक उपस्थिति सुनिश्चित की जाय ताकि पचास प्रतिशत ही कर्मचारी उपस्थिति रहे और कोरोना प्रोटोकाल का पालन हो सके। समय समय पर कार्योलयों को सेनेटाईज करवा जाय तथा कम से कम आम जनता कार्यालय तक पहुंचे इस हेतु अधिक से अधिक कार्य टेलिफोनिक, इंटरनेट के माध्यम से हो इस हेतु आवश्यक व्यवस्था करते हुए उसका उचित प्रचार प्रसार किया जाय।
7.वर्तमान में आज जो एक दिवसीय किराणा की जो छुट प्रदान की गई थी उसमें यह देखने में आया है कि शहरी क्षेत्र में अत्यधिक भीड लग गई थी। इस हेतु उचित होगा कि 3 तारीख के बाद दो-तीन दिन के लिये दोपहर 12 से 3 बजे के मध्य किराणा दुकानों को खोला जाय तथा उसमें केवल महिला वर्ग को ही सामान लेने हेतु छुट प्रदान की जाय। जिससे अनावश्यक आवागमन नही होगा और आस-पडोस की दुकानों से ही सामग्री क्रय होगी। 
8.चार पहिया वाहनों से जो छोटे व्यवसायी सब्जियों का व्यापार करना चाहते है, यदि वे सुरक्षा मापदण्ड का पालन करते है तो उन्हे अनुमति जारी की जाय। जिसकी समय समय पर समीक्षा संबंधित अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) द्वारा की जाती रहना चाहिए ताकि कालाबाजारी व सब्जियों के मूल्यों पर रोकथाम की जा सके।
9.इसी अनुरूप जिले के कोरोना प्रभावित कुक्षी, बदनावर, राजगढ व सरदारपुर नगरीय क्षेत्र में भी व्यवसथा सुनिश्चित की जाय।

जिले में जिस मुश्तेदी से प्रशासन कोरोना के रोकथाम में लगा हुआ है उसी मुश्तेदी से कार्य करते हुए आगामी कुछ दिनों में ही जिले को रेड झोन से ओरेंज झोन में लाना होगा, ताकि हम जल्दी से जल्दी ग्रीन झोन में आ सके।
इसी प्रकार आज 11 मरीजों के डिस्चार्ज होने पर ईश्वर का धन्यवाद देते हुए उन्होंने सभी कोरोना योद्धाओ को बधाई दी और अन्य सभी मरीजों के शीघ्र अतिशीघ्र स्वस्थ होने की कामना करी।

सैयद रिजवान अली बाकानेर जिला धार मध्य प्रदेश~~


Post A Comment:

0 comments: