झाबुआ~बडी लापरवाही का मामला -बैंकों में जिला प्रशासन के नियमों की उडाई जा रही धज्जियां ~~

सुरक्षाकर्मी की लापरवाही के चलते गा्रमीणो की लग रही भीड-अैार अधिक फैल रहा-संक्रमण का खतरा ~~

झाबुआसंजय जैन~

इन दिनों देश में लाक डाउन 4 लागू है,जिसके तहत जिला प्रशासन द्वारा आंशिक छूट भी दी गई है एवं कुछ नियम भी बनाए गए हैं। जिन्हें मानना प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है,लेकिन प्रशासन के नियमों की धज्जियां उड़ाते शहर के कुछ बैंक जहां पर नहीं हो रहा है लॉक डाउन का पालन। बैंकों के बाहर अत्यधिक भीड़ देखी गई है। भोले-भाले ग्रामीणों में ज्ञान का अभाव होने के कारण पास-पास में खड़े हो जाते हैं। बैंक मैनेजर अगर चाहे तो अपने सिक्योरिटी गार्ड के द्वारा उन्हें सोश्यल डिस्टेंसिंग का पालन करवा सकता है मगर ऐसा नहीं हो रहा है।

-यह कैसा भेदभाव....?
करीब दो-तीन दिन पहले जिला प्रशासन की टीम नगर भ्रमण को निकली थी, जिसमें उनके द्वारा कुछ व्यापारियों के यहां भीड़ देखकर उनके खिलाफ  कई धाराओं में कार्रवाई करने का मौखिक कहां गया है। लेकिन आज भी कई बैंकों में अत्यधिक भीड़ हो रही है,जिस और प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है अगर इस भीड़ में कोई संक्रमित व्यक्ति हुआ तो यह बड़ी घटना को अंजाम दे सकता है।

-अैार अधिक फैल रहा,संक्रमण का खतरा
नगर में आंशिक छूट के बाद से ही इस तरह का नजारा बैंको के बाहर आसानी से देखने को मिल रहा है। जिस पर से ग्रामीणजनो की आवाजाही इन बैंको के बाहर सैकडो की तादात में हो रही है। वही जहां एक ओर कोरोना वायरस संक्रमण बडी तेजी से फैल रहा है,वही दूसरी ओर ग्रामीणो का इस तरह से बैंको के बाहर एक साथ झुंड बनाकर खडे होना सोश्यल डिस्टेंसिंग का धज्जियां उडा रहा है। वही कई ग्रामीणो के मुंह पर तो मास्क भी नही है। ऐसे में संक्रमण का खतरा ओर अधिक फैल रहा है।

-क्या बैंक इसकी जवाबदारी लेगी.....?
बैंको के कर्मचारियो एवं सुरक्षागार्ड भी इस अव्यवस्था को नजरअंदाज कर अपना कार्य कर रहे है। ऐसे मे कही कोरोना संक्रमण को एक भी व्यक्ति यदि हुआ तो वह सैकडो को संक्रमित कर देगा। इसके बाद यह जिम्मेदारी किसकी होगी....?क्या बैंके इसकी जवाबदारी लेगी.....? जहां जिला प्रशासन के द्वारा जब से लॉक डाउन की शुरूआत हुई है,तभी से लेकर आज तक जिले के सभी नागरिको से अपील कर रहे है कि सोश्यल डिस्टेसिंग का पालन कर मुंह पर मांस्क का उपयोग करे ताकि आप खुद भी सुरक्षित रह सके ओर दूसरो भी सुरक्षित रह सके।
-जागरूकता का अभाव
ग्रामीणो में शिक्षा एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का अभाव होने के कारण उन पर जिला प्रशासन के कोई भी आदेश का असर दिखाई नही दे रहा है। वही जिले भर से ग्रामीण सैकडो की तादात मे रोजाना नगर में बैंको के सामने खडे होकर पैसो का लेनदेन कर रहे है। लेकिन बैंक कर्मीयो की लापरवाही के कारण ये ग्रामीणजन सोश्यल डिस्टेंसिंग का पालन नही कर रहे है ओर ना ही मुंह पर मास्क लगा रहे है। जिला प्रशासन को इस ओर ठोस कदम उठाने की दरकार है।


Post A Comment:

0 comments: