बड़वानी~महिला बाल विकास एवं पुलिस ने रूकवाया बाल विवाह ~~

बड़वानी  / महिला बाल विकास विभाग एवं पुलिस ने सूचना प्राप्त होने पर एक बाल विवाह को रूकवाया है। साथ ही दोनो परिवार के सदस्यों को समझाईश दी है कि वे लड़की की आयु 18 वर्ष पश्चात् ही विवाह करें, अन्यथा बाल विवाह की विभिन्न धाराओं के तहत उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी । इस पर लड़की एवं लड़के के परिजनो ने लड़की के बालिग होने पर ही विवाह करने का आश्वासन दिया है।
परियोजना अधिकारी महिला एव बाल विकास पाटी श्री प्रकाश रंगशाही से प्राप्त जानकारी अनुसार विकासखण्ड पाटी के ग्राम अम्बापानी मे *17 वर्ष* आयु कि बालिका का विवाह एक दो दिन मे किये जाने कि जानकारी प्राप्त हुई थी।  जिस पर त्वरित करवाई करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग एव पुलिस विभाग पाटी की टीम ने खाजपुर पाटी मे होने वाले इस बाल विवाह स्थल का मौका मुआयना किया । इस दौरान सेक्टर पर्यवेक्षक सुश्री रेवा बघेल ने बताया कि  बालिका कुमारी ललिता की आयु *17* वर्ष है और इनका विवाह खाजपुर के युवा श्री सखाराम पिता कलरिया बारेला के साथ होना है। इसके लिये युवक के परिजन शादी पक्की करने हेतु आज ग्राम में आ रहे है।  इस पर बालिका के पिता श्री वीलर सिंह एवं माता श्रीमती सुकमा बाई एवं लड़के के परिजनो को थाने पर बुलाकर समझाया गया कि बालिका जब तक 18 वर्ष की नही हो जाती, उसका विवाह करना गैर कानून है। इस पर दोनो पक्षो पर बाल विवाह की कार्यवाही हो सकती है। जिस पर दोनो पक्षो ने बालिका के बालिंग होने पर ही विवाह करने की रजामंदी दी है।
एएसआई श्री आशिक खान ने बताया कि बालिका का विवाह छोटी आयु में न हो, इसके लिये वे एव महिला व बाल विकास विभाग के पदाधिकारी भी नियमित रूप से बालिका के घर पहुंचकर जानकारी लेते रहेंगे।


Post A Comment:

0 comments: