रिंगनोद~नगर की शैक्षिक संस्था विस्डम एकेडमी ने अनुठे तरीके से मनाया विद्यालय का तृतिय स्थापना दिवस किया कोरोना वारियर्स का सम्मान~~

अनुराग डोडिया रिंगनोद~~

शिक्षा के क्षैत्र मै अपनी शिक्षण व्यवस्थाओ को लैकर तेजी से उबरते नगर के विस्डम एकेडमी  रिंगनोद के संचालक और समस्त विद्यालय परिवार स्टाफ द्वारा अनूठी पहल करते हुए विद्यालय का तृतिय स्थापना दिवस शोषल डिस्टेन्सींग का पालन करते हुए कोरोना वारियर्स को प्रशस्ति पत्र भैट कर और पुष्पृ वर्षा कर मनाया पुलीस प्रशाषन रिंगनोद चौकी पर चौकी प्रभारी सिताराम उपाध्याय एवं समस्त चौकी स्टाफ को तत्पश्चात प्राथमिक स्वास्थ्य कैन्द्र रिंगनोद पर समस्त स्टाँफ को पुष्प वर्षा कर प्रशस्ति पत्र भैंट किया गया पुलीस चौकी रिंगनोद पर सफाई कर्मी संजय पथरोड और उनकी टीम का भी प्रशस्ति पत्र भैंट कर पुष्प वर्षा कि गयी ईसपर पुलीस प्रशाषन रिंगनोद और स्वास्थ्य विभाग रिंगनोद एवं सफाई कर्मियो ने आमजन और विद्यालय परिवार का आभार माना वही सभी कोरोना योद्धाओ ने कहा समस्त आमजनो की सेवांओ के लिए हम सदैव तत्पर है बस आप सभी सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने और सुरक्षित रहने तथा प्रशाषन के सहयोग की अपील की वही विद्यालय के संचालक दैवेन्द्र कुमार सतपुडा ने समय पढने पर हर विद्यालय परिवार की और से हरसम्भव मदद की बात कही वही संचालक जो कि अध्ययन समय से ही कविता कहने मै रुचि रखते है ने अपने शब्दो से प्रशस्ती पत्र को सजाया और सम्मान के बाद पुरे विद्यालय परिवार की और से प्रशस्ति पत्र पर लिखित ईन शब्दो और कविताओ का पठन कर कोरोना योद्धाओ का आभार माना *अभिनन्दन*
  
नीति के सृष्टा वशिष्ठ, न्याय के दृष्टा गौतमअक्षपाद, अदम्य शौर्य प्रतिपादक परशुराम, आरोग्यदेव अश्विनीकुमार के आदर्शों पर उत्तुंग गर्वित भारतीय संस्कृति जहां वसुधैव कुटुम्बकम के भावो को आदिशंकर पल्लवित करते एकलव्य शबरी केवट से समृद्ध संभ्यता ने अनादिकाल से भूमण्डल का मार्गदर्शन किया...वर्तमान कालखंड में वैश्विक महामारी से त्रस्त विश्व के समक्ष भारत ने लड़ने इसे रोकने में अग्रदूत की भूमिका का निर्वहन किया/कर रहा है।
कोरोना के संकटकाल मे भारत ने संयम धैर्य शौर्य सेवा का अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत कर विश्व को विस्मित कर डाला है..अजेय आर्य संस्कृति के इस अभियान में आप डॉक्टर्स स्वास्थ्यकर्मी सुरक्षाकर्मी सफाईकर्मी ने योद्धाओं की भांति इस संकटकाल मे धीरता वीरता गम्भीरता से देवदूत की भूमिका निभाई है।।
         *Wisdom Salute WaRriors*
  स्वस्थ्यकर्मी अश्विनीकुमार की भांति
  सुरक्षाकर्मी मुख पर कार्तिकेय कांति
  सफाईकर्मी महादेव के प्रिय गणों से
  समर के महा योद्धा दिव्य लक्षणों से।
  आठो पहर साधक रत अवधूत से है
  धरती पर आप साक्षात देवदूत से है।
  मृत्यु को मात देकर कालजयी हो रहे
  महाकाल की कृपा से विजयी हो रहे।
  भगवान के पर्याय संकट के क्षणों मे
  अंतस से नमन योद्धाओ के चरणों मे
       
*आपका अभिनन्दन कर हम गौरवांवित अनुभव कर रहे है* इस अवसर पर प्राचार्य कामेश सतपुड़ा, पंकज सतपुड़ा, केशव दवे, कन्हैयालाल पड़ियार, काना मोलवा, जयसूर्या चौधरी,भावेश सोलंकी,राहुल पाटीदार,कमल परवार, विजय लछेटा ,अनिल मोलवा एवं अन्य नागरिक गण उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: