अंजड~लॉकडाउन के कारण हाईवे पर नंगे पांव मजदूरों को चलते देखा तो शुरू किया "चरण सेवा" अभियान~~

सतीश परिहार अंजड~~

अंजड--कोरोना संकट और लॉकडाउन से उन लोगों की मुसीबत बढ़ गई, जिनकी रोजी-रोटी छीन गई है। पेट पालने के लिए पहले घर और गांव छोड़कर परदेश में मजदूरी के लिए गए थे। लेकिन अब वापस लौट रहे हैं । वाहन नहीं मिले तो पैदल ही लौट रहे हैं । कई किलोमीटर पैदल चलते-चलते इनके जूते-चप्पल टूट गए । नंगे पैर और हाथ में बच्चों की उंगली पकड़े पैदल चल रहे इन लोगों को देखकर दिल पसीज जाता है। बांम्बे-आगरा राजमार्ग और छोटी सड़कों पर कई लोग ऐसे भी चल रहे हैं जिनकी चप्पल और जूतों में छेद हो गए । ऐसे लोगों की मदद के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण के पेरालीगल वालेंटियर्स ने हाथ बढ़ाया है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर जी कोठे के मार्गदर्शन व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री हेमंत जी जोशी के दिशानिर्देश में अंजड पेरालीगल वालेंटियर ने "चरण सेवा" अभियान चलाया है । इस अभियान के तहत लाकडाउन में बांम्बे-आगरा हाइवे से होकर तेज धूप में नंगे पांव गुजरने वालों को चप्पल-जूते पहनाए जा रहे हैं ।

तेज धूप में नंगे पांच चलने वालों को दे रहे राहत...

मध्यप्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश से मजदूरी के लिए महाराष्ट्र गए लोग परिवार सहित पैदल ही लौट रहे हैं। हाईवे पर इन लोगों की लंबी कतार नजर आती है। पैदल चलते-चलते इन लोगों के चप्पल-जूते टूट गए। कई लोगों के चप्पल-जूतों में छेद हो गए। खुद नंगे पांव चल रहे मजदूर छोटे बच्चों को कंधों पर बिठाकर घर जा रहे हैं तो बड़े बच्चे अपने माता-पिता की अंगुली पकड़कर पैदल चल रहे हैं। बच्चे भी नंगे पांव है।
ऐसे लोगों की मदद "चरण सेवा " अभियान के तहत की जा रही है। ट्रांसफाँर्म रूरल इंडिया फाउंडेशन के परियोजना समन्वयक आशीष गुप्ता के साथ मिलकर लॉकडाउन में पैदल वापस अपने घरों कि और जाने वाले बच्चों, युवाओं, महिलाओं के लिए जिले के विभिन्न जगहों के पेरालीगल वालेटियर्स द्वारा स्वयं और   दानदाताओं के सहयोग से जरूरतमंदों के लिए "चरण सेवा " अभियान शुरू किया। अन्य राज्यों से आने वालों के साथ ही यहां से जाने वालों को भी इस अभियान के तहत चप्पल-जूते पहनाए जा रहै हैं। पेरालीगल वालेटियर्स की टीम इस काम में जुटी हुई है। अब तक 1500 सौ लोगों को जूते-चप्पल पहनाए जा चुके हैं। यह क्रम लगातार जारी है। साथ ही कई लोगों द्वारा कपडों खाने कि सामग्री आदि सामान भी जरूरत मंद लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। इस काम में पेरालीगल वालेटियर्स कि टिम में सतीश परिहार, निधि शर्मा, सरदार सिंह बघेल, कोरस गेहलोत, शैली चौहान, शैलजा पारगीर, रेहाना खांन, आराधन पटवा, यश आदि का सहयोग निरंतर मिल रहा है।


Post A Comment:

0 comments: