हरदा ~हंडिया तहसीलदार ने मछुआरे व आदिवासी परिवारों को राशन वितरण करवाया~~

अंकुश विश्वकर्मा हरदा ~~

हरदा/हंडिया। बुधवार को जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालय से दूरस्थ व अंतिम छोर पर बसे ग्राम उंढाल व वनग्राम जोगा में ऐसे दिहाड़ी मजदूर जिनकें पास लॉकडाउन के चलते कोई काम,धंधा व मजदूरी न मिलने से  मछुआरे व आदिवासी परिवारों को राशन के रूप में शासकीय उचित मूल्य की दुकान से गेहूँ वितरण किया गया।  हंडिया आरआई संतोष पथोरिया बने बताया कि ये वो दिहाड़ी मजदूर हैं जो मछली पकड़ने व खुली मजदूरी करने वाले थे,लेकिन लॉकडाउन के चलते इनका काम धंधा ठप होने से इनकें भोजन व्यवस्था हेतु हंडिया तहसीलदार अर्चना शर्मा ने दोनों ग्रामों में पांच दिन पूर्व इन मजदूरों की मौके पर जाकर जांच कर सूची तैयार की गई थी।जिसके अनुसार दोनों ग्राम के कुल 140 परिवारों के कुल 640 सदस्यों को बुधवार दोनों ग्रामों में जाकर प्रति सदस्य पांच किलो गेहूँ निःशुल्क वितरण किया गया। जिससे कि कोई भी भूखा न रहे। ये वो परिवार हैं,जो इंद्रा सागर बांध से विस्थापित होकर इन दोनों ग्रामों में व इन दोनों ग्रामों के गांव से बाहर खेतों व नर्मदा नदी के किनारे आकर रहने लगे थे।इन परिवारों के पास गरीबी रेखा के राशनकार्ड भी नहीं हैं। इन परिवारों के पास आवश्यक दस्तावेज न होने से व मछली पकड़े व अन्य प्रकार की खुल्ली मजदूरी हेतु इन ग्रामों से चार-चार महीने अन्य जगहों पर प्रवास पर रहने से अभी तक इनकें बीपीएल कार्ड नहीं बन पाए। वर्ष 2017 में इन लोगों ने सामूहिक रूप से बीपीएल कार्ड बनाने हेतु मांग की थी,परन्तु इनकें पास बीपीएल कार्ड बनाने में लगने वाले आवश्यक दस्तावेज न होने से इनकें कार्ड नहीं बन पाए। तहसीलदार शर्मा ने बताया अब लॉक डाउन खुलने के बाद पुनः इनकें बीपीएल कार्ड बनाने की प्रक्रिया चालू की जावेगी। इस कार्यवाही के समय हंडिया तहसीलदार अर्चना शर्मा के साथ नायब तहसीलदार भरत अहिरवार,आरआई संतोष पथोरिया,पटवारी अभिषेक नँदमेहर, सहसचिव संदीप चौहान,उचितमूल्य दुकान संचालक धीरज राजपूत के साथ ग्राम कोटवारगन सत्यनारायण व गवल व ग्रामीणजन उपस्थित रहे।


Post A Comment:

0 comments: