झाबुआ~शराब दुकान स्वेच्छिक तालाबंदी लोग ही नहीं आएंगे तो बिक्री कहा से होगी~~



झाबुआ। जिला कलेक्टर द्वारा घोषित 5 दिवसीय सम्पूर्ण लॉक डाउन और लॉक डाउन का पालन करवाने हेतु पुलिस की सख्ती नतीजन सड़कों बाजारों में पसरा सन्नाटा। सन्नाटे के बिच देशी व विदेशी शराब दुकान जिसका प्रतिदिन का रेवन्यू लॉखो रूपये है जिसे लेकर ठेकेदारों को चिंता सताते लगी है। फलतः प्रबंधक ने दुकानों पर ताले जड दिये। जिले में स्थित सभी देशी व विदेशी शराब दुकान के संचालको एवं शराब दुकान के लाइसेंस धारको ने स्वेच्छा से निर्णय लिया है की लॉक डाउन के दौरान फिलहाल 17 मई तक तो वे अपनी दुकानों को बंद रखेंगे। क्योकि सम्पूर्ण लॉक डाउन के चलते ग्राहकों का आना संभव नहीं तो दुकान खोलकर भी क्या फायदा होगा। जहां जिला प्रशासन ने एक ओर लॉक डाउन पुरे जिले मे लागू किया है ओर लोगो को शराब दूकान तक नही आने दिया जा रहा है। साथ ही बताया की नगर की दुकाने देशी व विदेशी शराब दूकान का वार्षिक रेवन्यू करोडा रूपये आता है जो की प्रतिदिन के हिसाब लाखो में होता है। ऐसी स्थिति में रेवन्यू की भी भरपाई करना कठिन है दुकान बंदी के पीछे ठेकेदारों की मंशा यही है की लॉक डाउन में शराब दुकानों को भी रेवन्यू में कुछ रियायत मिले।


Post A Comment:

0 comments: