*झाबुआ~मेघनगर ब्लाक के  822 परिवारों तक राहत सामग्री पहुंचाएगा  एजुकेट गर्ल्स, जनपद पंचायत कार्यालय मेघनगर के माध्यम से*~~

*संस्था की ओर से आटा,दाल,तेल,मसाला,साबुन आदि दिया जा रहा*~~

झाबुआ से ब्यूरो चीफ दशरथ सिंह कट्ठा की रिपोर्ट...

झाबुआ - मेघनगर ब्लॉक में बालिका शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही संस्था एजुकेट गर्ल्स कोविड -19 महामारी में ग्रामीण क्षेत्रों में अपने सेवा कार्यो को निरन्तर जारी रखे हुए हैं ! जनपद पंचायत मेघनगर सीईओ वीरेन्द्र रावत ने राहत सामग्री से भरे वाहनों को वितरण के लिए पंचायतो में रवाना किया । इस मोके पर एजुकेट गर्ल्स  संस्था के कर्मचारी शैलेंद्र बामण और श्रीमती सुमित्रा राजू मेडा मौजूद थे। उन्होंने बताया कि संस्था कोविड-19 की जागरूकता को लेकर भी संस्था ग्रामीण क्षेत्र में कार्य कर रही है । संस्था मूल रूप से बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का काम करती है!जिले में सरकार की मंशानुसार डिजिलेपकार्यक्रम ,मनरेगा,गरीब कल्याण योजना आदि की पहुंच ग्रामीणों तक बनाने शासन- प्रशासन का सहयोग ग्रामस्तर पर कर रही है ! झाबुआ जिला मुख्यालय से  शुक्रवार को सहायक कलेक्टर आईएएस आकाश सिंह ने राहत सामग्री से भरे वाहनों को हरी झंडी दिखाकर जिला मुख्यालय से रवाना  किया । इस मौके पर डिप्टी कलेक्टर एलएन गर्ग, डिप्टी कलेक्टर ज्योति पर्ते भी खास तौर पर मौजूद थे । कलेक्टोरेट से रवाना किए गए वाहन  जिले के 4 ब्लॉक में जाकर करीब 4300 परिवारों को मदद पहुंचाएंगें । राहत सामग्री के पैकेट में संस्था की ओर से आटा,दाल,तेल,मसाला,साबुन आदि दिया जा रहा है!संस्था ने 20 ऐसे गांवों को चिन्हित किया जहां पलायन से लौटने वाले मजूदरों की संख्या ज्याद है! साथ ही ऐसे गांव जो दूरस्थ हैं ! इसके पहले भी संस्था की ओर से 18 गांव में 2700 से ज्यादा राहत सामग्री पैकेट का वितरण मई माह में किया गया था ! वाहनों को रवाना करने के बाद आईएएस आकाश सिंह ने कहा कि कोरोना संकटकाल में इसी तरह मदद करने वालों का आगे आना चाहिए ताकि लोगों के साथ-साथ प्रशासन को भी मदद मिल सकें । संस्था के जिला प्रबंधक कृष्णा कलानी ने कहा कि संस्था कोविड 19 के कारण परेशानी में फंसे लोगों को मदद पहुंचाने की कोशिश कर रही है ! कलानी ने बताया कि जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा के मार्गदर्शन में गांवों मे कोविड-19 के सुरक्षा उपायों के साथ ही इस सामग्री का वितरण किया जाएगा!संस्था कोविड-19 की जागरूकता को लेकर भी संस्था ग्रामीण क्षेत्र में कार्य कर रही है । संस्था मूल रूप से बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का काम करती है ।


Post A Comment:

0 comments: