सरदारपुर~काँग्रेस ने फूँका शिवराज का पुतला~~

भाजपा ने प्रकरण दर्ज करने कि रखी माँग~~

सरदारपुर (शैलेन्द्र पँवार)

दरअसल कांग्रेस ने प्रदेश भर मे कमलनाथ सरकार गीराने के विरोध स्वरूप 30जुन को 100दिन पुरे होने पर काला दिवस मनाया! वहीं सरदारपुर विधानसभा क्षैत्र के काँग्रेसी विधायक प्रताप ग्रेवाल के नेतृत्व में सरदारपुर के बस स्टैंड पर काँग्रेसी कार्यकर्ताओं कि भीड़ ने शिवराज विरोधी नारे लगाते हुए सीएम शिवराजसिह चौहान का पुतला फूँका!
        इधर सरदारपुर विधानसभा क्षैत्र मे भाजपा के लोकप्रिय नेता एवं जिला पंचायत सदस्य संजय बघेल अपने समर्थकों भाजपा मंडल अध्यक्ष अखीलेश यादव, बग्दीराम सिंगार आदि के साथ सरदारपुर पुलिस थाने पर पहुँचे! जहाँ उन्होंने विधायक प्रताप ग्रेवाल एवं उनके समर्थकों के विरूध्द सामाजिक दूरी उलंघन सहीत विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज करने हेतु थाना प्रभारी को आवेदन दिया!
        श्री बघेल ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री का पुतला फूँककर विधायक ग्रेवाल ने मध्यप्रदेश कि जनता को अपमानित किया है और बात कर रहे है लोकतंत्र कि हत्या की! साथ ही साथ कोरोनाकाल में इतनी बड़ी संख्या मे काँग्रेसी कार्यकर्ताओं को एकत्रित कर सामाजिक दूरी नही बनाकर एवं भीड़ वाले क्षैत्र में मास्क नही लगा भारतीय संविधान कि धारा 188 का मखौल उड़ाया है, बघेल ने  कहा कि जो विधायक संविधान को नहीं समझता है वो विधायक लोकतंत्र कि हत्या कि बातें करें तो सीधे सीधे इनकी मंसा जनता को भी समझ आ रही है!
       आपको बता दे कि श्री बघेल ने क्षैत्रिय विधायक प्रताप ग्रेवाल को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि काँग्रेस पार्टी सत्ता के सुख मे अपने ही कार्यकर्ताओं को सम्मान नहीं दे सकी, जिसके कार्यकर्ता तक क्षैत्रीय विधायक प्रताप ग्रेवाल से नाराज हो चले है तो स्वभावीक है कि उनकी कमलनाथ सरकार भी विधायकों कि मंसा अनुसार विकास कार्य नही कर रही थी! बघेल ने यह भी कहा डाला कि काँग्रेस को अपने आप में विधायकों कि नाराजगी के कारण जानने के लिये चिंतन करने कि आवश्यकता है, भाजपा जैसी अनुशासित पार्टी पर ऐसे बैबुनीयाद आरोप केवल आपकी दाँढ मे लगा सत्ता सुख दर्शा रहा है किन्तु अब जनता समझ चुकी है कि काँग्रेस पार्टी कि कथनी और करनी मे कितना अन्तर है!


Post A Comment:

0 comments: