अंजड~तंगहाली का शिकार हो गए टेंट कारोबारी, शादी-विवाह के कार्यक्रमों में छूट सहित आर्थिक सहायता देने की मांग~~

सतीश परिहार अंजड~~


अंजड---लॉकडाउन का असर उद्योग-धंधों और छोटे व्यवसायों पर भी पड़ा है। कई उद्योग-धंधे और व्यवसाय ऐसे हैं जो पूरी तरह से चौपट हो चुके हैं, या कुछ होने की तैयारी में हैं। इनमें से ही एक है टेंट व्यवसाय, जिससे जुड़े लोगों की हालत काफी दयनीय हो गई है। मंगलवार को अपनी इन्हीं समस्याओं को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम तहसीलदार अंजड को अपनी समस्याओं से अवगत कराकर ज्ञापन भी सौपा। टेंट व्यवसायियों की मानें तो पूरे अंजड क्षेत्र मे 15 के करीब टेंट व्यवसायी हैं, जिन पर 500 से ज्यादा कर्मचारी और इनके परिजनों को भी मिला लें तो यह संख्या लगभग 1500 के करीब हो जाती है। टेंट व्यावसाईयों को 3 लाख से 15 लाख तक का टर्न लोंन बिना ग्यारंटी के दिया जाये जिसकी एक साल तक कोई भी किश्त न हो , पुर्व के ऋणी टेंट संचालकों को बैंको के द्वारा किश्त समय पर नहीं भरने के चलते डिफाल्टर न घोषित किया जाये, साथ ही सरकारी कार्यालयों में किये गये अभी तक के कार्य के बिलों का फौलन भूगतान किया जाये इसके साथ ही हमारे पास काम करने वाले.बेरोजगारी का सामना करने वालै मजदूरों को रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत मनरेगा के कामों में लगाया जायै जिससे कि वे अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें।

मंगलवार को टेंट व्यवसाय करने वाले ललित पाटीदार, श्याम कुमरावत, प्रेमचंद जैन, महेंद्र पाटीदार, सुरेश जैन, कृष्णा पाटीदार, सुनिल पाटीदार, देवकरण सुरेश, अनिल सेन ने तहसीलदार राजेश कोचले को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगें रखी।


Post A Comment:

0 comments: