झाबुआ~उपभोक्ताओं के क्यो आए मई माह के बिजली बिल अधिक~~

जाने इस खबर में, गर्मी और लॉकडाउन समाप्ति के बाद अब आएंगे उपयोग अनुसार कम राशि के बिजली बिल -: सहायक यंत्री उमाशंकर पाटीदार~~





झाबुआ। संजय जैन~~

जिलेभर में मई माह में लोगों के मकानों के बिजली के बिल ज्यादा राशि के आने से असमंजस की स्थिति बनी हुई है। जिसका कारण विद्युत मंडल ने बताया कि मार्च, अप्रेल एवं मई महीने में एक ओर नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) से रोकथाम हेतु लॉकडाउन लगा होने से एवं इस बीच भीषण गर्मी होने से परिवार के सभी सदस्यों के घर पर रहने से विद्युत की खपत अधिक होने से बिजली बिल अधिक आए है। इस बीच मप्र शासन द्वारा आधा बिजली बिल माफ  की योजना के तहत जिन उपभोक्ताओं के मार्च महीने में 100 से 400 रू. तक के बिजली बिल आए, उन्हें आगामी तीन महीने तक के आधा बिल भरने की ही योजना है।ं विद्युत मंडल ने जून माह से लॉकडाउन समाप्ति होने एवं ग्रीष्मकाल भी खत्म होने से बिजली की खपत घरों एवं दुकानों में कम हो जाने से पहले की तरह बिजली बिल सामान्य आने की भी बात कहीं है।




-किया जा रहा बिलों में रीडिंग संबंधी त्रुटि में सुधार कार्य 





जानकारी देते हुए विद्युत मंडल झाबुआ के सहायक यंत्री उमाशंकर पाटीदार ने बताया कि गत 21 मार्च से संपूर्ण देश में लॉकडाउन लगा। वहीं झाबुआ शहर में ही लॉकडाउन लगने से बाजार एवं प्रतिष्ठान बंद होने से परिवार के सभी सदस्यों के घर पर रहने एवं इसी बीच गर्मी भी आरंभ होने कई उपभोक्ताओं के मकानों में इस दौरान पंखे, कूलर, फ्रिज, वाशिंग मशीन और पानी की मोटर अधिक चलने खपत बढऩे पर मीटर में रीडिंग अधिक बनने से बिल अधिक आए है। हां यह जरूर है कि कुछ बिलों में रीडिंग संबंधी त्रुटि भी हुई है, उसमें सुधार कार्य किया जा रहा है।




-विद्युत मंडल कार्यालय आकर समाधान करवाएं





लॉकडाउन की अवधि मार्च, अप्रेल में विद्युत कर्मचारियों द्वारा संपूर्ण शहर में रिडींग कार्य नहीं कर पाने से पूर्वानुमान रीडिंग अनुसार मई के बिजली बिल भी जारी किए गए है। जिन भी विद्युत उपभोक्ताओं को मई में बिजली बिलों के संबंध में असमंजस है, वे विद्युत मंडल कार्यालय आकर संपर्क कर सकते है एवं समस्या का समाधान करवा सकते है।




-जुलाई से आएंगे सामान्य बिल





वहीं सहायक यंत्री श्री पाटीदार ने यह भी जानकारी दी कि जुलाई माह से अब उपभोक्ताओं के बिजली बिलों की राशि में कमी आएगी। जिसका कारण लॉकडाउन समाप्त होने एवं ग्रीष्म ़ऋतु का सीजन भी खत्म होने से मकानों एवं दुकानों में बिजली की खपत कम होगी। लोग आवश्यकतानुसार ही बिजली की उपयोग करेंगे वहीं रीडिंग कार्य भी पूर्वानुसार सुचारू रूप से होने से बिजली बिल की राशि उपयोग अनुसार कम आएगी।





-मप्र शासन की आधा बिजली बिल माफ  की योजना का किसे मिलेगा लाभ, जाने.....





मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के मैनेजिंग डायरेक्टर विकास नरवाल ने उपभोक्ताओं के वीडियो संदेश के माध्यम से बताया कि मप्र शासन द्वारा जो कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन अवधि में बिजली बिल आधा करने की योजना चलाई गई। उसमें जिन उपभोक्ताओं के मार्च महीने में 400 रू. से कम के बिजली बिल आए है, उन्हें अप्रेल, मई और जून महीने में इस योजना का लाभ प्राप्त होगा। संबल योजना के हितग्राही जिनका बिजली बिल मार्च महीने में 100 रू. तक आया है, वे अप्रेेल, मई और जून महीने में 50-50 रू. बिजली बिल ही भरेंगे। वहीं आम उपभोक्ताओं में जिनका बिजली बिल मार्च महीने में 100 से 400 रू. के बीच है, तो उन्हें अगले तीन महीनों मे इस योजना के तहत आधा बिल भरने की पात्रता होगी। दूसरी ओर जिनके बिजली बिल मार्च महीने में 500 से लेकर 1500 रू. या अधिक आने पर इस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा। इस योजना के तहत संपूर्ण प्रदेश में अब तक 25 लाख से अधिक उपभोक्ता लाभान्वित हुए है।




Share To:

Post A Comment: