अंजड़ ~माध्यमिक शिक्षा मंडल एवं उच्च शिक्षा विभाग की परीक्षा सेंटर तक पहुंचने में विघार्थियों को पहुचने में वाली बाधाओं के संबंध में ज्ञापन दिया~~

सतीश परिहार अंजड़~~

माध्यमिक शिक्षा मंडल एवं उच्च शिक्षा विभाग की परीक्षा सेंटर तक पहुंचने में विघार्थियों को पहुचने में वाली बाधाओं के संबंध में आदिवासी छात्र संगठन ने कलेक्टर अमित तोमर और एसडीएम राजपुर अभयसिंह ओहरिया को ग्यापन छात्रों की समस्याओं को लेकर एक ग्यापन दिया..

आज दिनांक 04 जुन 2020 को आदिवासी छात्र संगठन द्वारा कोविड19 संक्रमण लाँकडाउन के चलते मध्यप्रदेश सरकार कहीं न कहीं 12वीं एवं महाविद्यालयों कि परीक्षा आयोजित करवा रही है, चुंकि अंजड नगर के आसपास 40 गांवों के विधार्थी निवासरत है।

जिससे आगामी समय में विधार्थियों को होने वाली बाधायें इस प्रकार है..

अंजड नगर के मध्य बहने वाली भोगलीं नदी पुल का काम निर्माणाधीन है, जिससे भोगलीं नदी में बारिश के उफान के कारण विद्धार्थीयों को आवागमन में कठिनाई आयेगी और अन्य वैकल्पिक मार्ग से परिक्षा केंद्र तक पहुंचने में अधिक समय लगने के कारण विधार्थियों कि मानसिक स्थिति प्रभावित होगी। 

2-वर्तमान में माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा 12 वीं कि परीक्षा 9 जुन से दो पारियों में आयोजित कर रहा है जिससे 90 प्रतिशत विधार्थी इंदौर रोड पर एवं आसपास के गांवों में निवासरत है जिससे रिमझिम या थोडी सी बारिश होने पर भोंगली नदी के छोटे आकार के पुल अकसर डुब जाते हैं और आवागमन रूक जाता है ऐसी स्थु में अचानक बारिश होतो विधार्थियों के लिए भोंगली नदी पर कोई वैकल्पिक मार्ग भी नहीं है, ऐसी स्थिति में ठीकरी रोड पर कोई एक परिक्षा केंद्र बनाया गया है ऐसी आपातकालीन स्थिति में छात्र-छात्राऐं परीक्षा देने से वंचित हो सकते है जो एक बडी समस्या बन सकती है इसका त्वरित निराकरण करना अति आवश्यक है। इसी प्रकार जुलाई माह में उच्च शिक्षा विभाग महाविद्यालय की परीक्षा आयोजित होने जा रही है जिससे अंजड महाविद्यालय के लगभग 50 प्रतिशत विधार्थी बडवानी किराये से रहते है जिसमें भी यह निर्माणाधीन पुलिया परेशानियों का कारण बन सकता है।
इस अवसर पर आदिवासी छात्र संगठन नगर अध्यक्ष लोकेश परमालिया जितेंद्र तंवर, रवि चौहान, शुभम पटेल आदि उपस्थित रहे।


Post A Comment:

0 comments: