झाबुआ~जिला चिकित्सालय में वेस्ट मटेरियल का कचरा कई दिनो से नही हो रहा साफ-इन्दौर से नही आ रहा वाहन ~~


झाबुआ। संजय जैन~~

जिला चिकित्सालय में इन दिनो सफाई व्यवस्था पर बिल्कुल ही नही ध्यान दिया जा रहा है। जिसके कारण अपशिष्ट पदार्थो का अव्यवस्थित ही बाहर आना दिखाई दे रहा है। जहां एक ओर जिला अस्पताल सफाई को लेकर बडे बडे ढिडोरे पिटाता हो लेकिन वास्तविकता में हकीकत की धरातल पर सफाइ्र्र के नाम पर सिर्फ  अंगुठा दिखाया जा रहा है। पूर्व में अस्पताल में अव्यवस्थाओ को लेकर भी समाचार पत्रो में प्रकाशन किया गया था। उसके बाद से वरिष्ठ अधिकारियो ने इस बात का भरोसा दिलाया था कि जिला अस्पताल में सफाई को लेकर कोई भी लापरवाही नही बरती जायेगी लेकिन विगत कुछ दिनो बाद ही जिला अस्पताल में सफाई के नाम पर दाग लग गया। 


-बना रहता संक्रमण का खतरा 

जिला अस्पताल मे मुख्य गेट के पास ही बने कचरे के ढेर का एक कम्पाटमेेन्ट बनाया गया है जिसमे अस्पताल के वेस्ट मटेरियल को रखा जाता है। लेकिन कुछ दिनो से ये वेस्ट मटेरियल उस जगह से बाहर आने लगा है। वही जहां लोगो का आने जाने का रास्ता है ओर पास ही बने एसएनसीयू वार्ड मे नन्हे मुन्ेने बच्चो का वार्ड होने से संक्रमण का खतरा बना रहता है। यहि नही इससे पूर्व भी स्वास्थ्य संबधी कई ऐसी अव्यवस्थाये जिला अस्पताल मेेें बिखरी पडी रहती है जिससे स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड सकता है। कई बार इस अव्यवस्थाओ के बारे में उच्च अधिकारियो से संपर्क करना चाहा तो वे सिर्फ  अपने आप को कोविड -19 में ही व्यस्त बताते हुये इस बारे मे कुछ भी सटिक जबाव नही दे पाये। 


-कव्र्तव्यो से अधिकारी किस तरह मुंह मोडते है....? 

जिससे यह जाहिर हुआ कि अपने कव्र्तव्यो से अधिकारी किस तरह मुंह मोडते है....? जिला अस्पताल में इस तरह गंदगी का आलम होना क्या मरिजो के स्वास्थ्य पर असर नही डालेगा....? क्या इससे अन्य बिमारियो से ग्रसित होने की कोई संभावना नही है....? ऐसे कई सवाल है जो इस तरह की गंदगी होने पर जिला अस्पताल की ओर उठते है। लेकिन शायद विवादो के घेरे मे रहने की जिला अस्पताल को रहने की आदत सी हो गई है। 


-जिम्मेदारो का कहना- 

इस वेस्ट मटेरियल के लिय इन्दौर से गाडी आती है। जिसमे पुूरा मटेरियल गाडी में भरकर इन्दौर के लिये रवाना किया जाता है। अभी कुछ दिनो से यह वाहन नही आ पा रहा है। लेकिन यदि कुछ वेस्ट मटेरियल बाहर आ रहा है तो मै इसे दिखवाता हूूॅ।

........डॉ. बी.एस. बघेल.,सिविल सर्जन, जिला चिकित्सालय, झाबुआ।


-बात करता हूॅ

वेस्ट मटेरियल को अलग से इखट्टा किया जाता है।जिसे इन्दौर से गाडी लेने आती है। अभी मे कोविड-19 में जा रहा हू बाद मे बात करता हूॅ।

.......डॉ. सावनसिह चौहान, आरएमओ, जिला चिकित्सालय, झाबुआ। 


Post A Comment:

0 comments: