खंडवा~2009 का लोकसभा चुनाव राजनारायण सिंह ने याद दिलाया अरुण यादव को .~~

मध्यप्रदेश के उपचुनाव मे मांधाता से कांग्रेस सबसे ज्यादा वोटो से जीतेगी .. ठा.राजनारायण सिंह ~~

इशारो ही इशारो मे कई शब्द कह गए-पुर्व विधायक पुरनी ~~

झगडे की जड़ बिक गई  अरुण भाई कांगेस मे है और रहेगे .~~

बीड़-मुंदी रवि सलुजा ~~

खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा मे मंगलवार को  पूर्व प्रदेश अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव क्षेत्र के दौरे पर आए उनके साथ पूर्व कृषि मंत्री कसरावद के विधायक सचिन यादव, बड़वाह के  विधायक सचिन बिरला सहित कई नेता साथ थे । इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मांधाता में उपचुनाव होना है पार्टी सर्वे के आधार पर योग्य उम्मीदवार को टिकट देगी। कई प्रकार की अटकलों को उन्होंने विराम लगाया और कहा कि टिकट  अभी  तय होने  में  सभी पहलुओं को ध्यान में रखा जाता है । कांग्रेस के विधायक नारायण पटेल के अचानक इस्तीफा  देकर  भाजपा के शामिल हो जाने से भी  मुझे बड़ा कष्ट हुआ है,  यादव ने कार्यकर्ताओं का मनोबल भी बढ़ाया वह इस बात से साफ इंकार कर दिया कि वह खुद मांधाता से चुनाव लड़ेंगे । पार्टी सभी बातों को ध्यान में रखते हुए योग्य उम्मीदवार का चयन करेगी जो आने वाले दिनों में  तय होगा  कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया । इस दौरान क्षेत्र के पूर्व विधायक ठाकुर राजनारायण  सिंह उत्तम पाल सिंह की  मौजूदगी चर्चा  का विषय  रही। गौरतलब है कि आने वाले महीनों में मांधाता विधानसभा सीट पर  कॉन्ग्रेस के  विधायक नारायण पटेल के  इस्तीफे के बाद सीट रिक्त हो गई है , यहां भी उपचूनाव होना है, जिसको लेकर कांग्रेस और बीजेपी में  राजनीतिक घटनाक्रम का  दौर शुरू हो चुका है।   मांधाता की  सीट पर उपचुनाव में कड़ा मुकाबला होने की प्रबल संभावना है , वह कई दावेदार भी दोनों  ही दलों से है। यादव  के दौरे के दौरान  टिकट के दावेदार बड़ी संख्या में कांग्रेस के नेताओं  वह कार्यकर्ताओं मौजूद रहे। 

भाजपा कर रही है खरीद फोकत का काम लोकतंत्र की हत्या

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव आरोप लगाया कि भाजपा राजनीतिक में लोकतंत्र की हत्या कर रही है बड़े पैमाने में विधायकों को प्रलोभन देकर खरीद फोकक्त का काम भी कर रही है आने वाले दिनों में होने वाले उपचुनाव में हम पुनः जीतेंगे और मध्य प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में पुनः सरकार बनाएंगे।


Post A Comment:

0 comments: