*मनावर ~सरदार सरोवर बांध से प्रभावित से डूब प्रभावितों की पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं*~~

*मनावर के समीप ग्राम एकलबारा गाँव के 60 मकान न डूब के रहे न ही पुनर्वास के*~~

*मकान डूबने के एक साल बाद भी नहीं मिला अपना अधिकार विस्थापित की हो गई मौत*~~

*जिम्मेदार अधिकारी देते रहे सिर्फ आश्वाशन*~~

निलेश जैन मनावर ~~

सरदार सरोवर बांध में पानी भरने के एक साल बाद भी नहीं मिला डूब प्रभावितों को अपना अधिकार  मनावर तहसील के डूब प्रभावित ग्राम एकलबारा गाँव के 60 मकान आज भी नर्मदा किनारे पर बसे हुए है लेकिन न तो यह मकान डूब के रहे और न पुनर्वास का लाभ मिला | अब यह विस्थापित कहा के निवासी है यह आज भी कागजों में ही अटका हुआ है | विस्थापितों को आज भी अपने संपूर्ण पुनर्वास का इंतजार ग्राम एकलबारा के 19 परिवारों का सितंबर 2019 में भूअर्जन हुआ था जिसमें नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण द्वारा मात्र 06 परिवारो को डूब में माना और बाकि के 13 परिवारों को फिर से डूब से बाहर दर्शाया गया लेकिन भूअर्जन की प्रक्रिया कहा तक बड़ी इसकी कोई भी जानकारी नहीं दी जा रही है।एकलबारा गाँव के डूब प्रभावित बादाम सिंह पिता उमरावसिंह का मकान डूबे हुए एक साल बाद भी नहीं मिला पुनर्वास का लाभ | विगत दिनों बादाम सिंह जी की पुनर्वास का इंतजार करते करते मृत्यु हो गई लेकिन आज भी अधिकारीयों द्वारा संतुष्टजनक जवाब पिछले एक साल से मिल रहा है। बादाम सिंह जी के पुत्र बताते है कि पिछले साल जब डूब आई थी तब मकान की दीवारे गिर गई थी तब नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण मंत्री, धार कलेक्टर, पुनर्वास अधिकारी, मनावर विधायक घर देखकर गए थे जब मकान को डूब में लिया गया और मकान का भूअर्जन किया गया लेकिन पिछले एक साल से भूअर्जन अधिकारी, पुनर्वास आयुक्त मात्र आश्वाशन ही दे रहे है हम चार भाई अलग अलग जगह किराए पर मकान लेकर रह रहे है पिछले महीने पिताजी की मृत्यु हो गई आज जब हम भूअर्जन अधिकारी से हमारे बारे में बात करते है तो कहते है पिताजी की मौत होने के बाद हम उनका पैसा नहीं देंगे क्योंकि वो मर गए है हमें आज भी न तो मकान के भूअर्जन की राशि मिले है न हि मुख्यमंत्री की घोषणा अनुसार 5 लाख 80 हजार रूपये की राशी नही मिली। नर्मदा बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ता रोहित ठाकुर बताते है कि पिछले एक साल से विस्थापितों के कार्य 5 लाख 80 हजार, मकान के भूअर्जन, टीन शेड में रह रहे परिवार, डूब आई जब बनाये गये पंचनामो, 60 लाख संबंधी जिनकी जमीन डूबी उनपर कार्यवाही संबंधी कोई भी कार्य आगे नहीं बढ़ा है ऐसे में जब हम अधिकारियों से इनपर कार्यवाही की बात करते है तो कोई भी संतुष्टपूर्ण जवाब हमे नहीं मिलता है अगर ऐसे ही चलता रहा तो हमें इस कोरोना महामारी के बीच कुछ बड़ा कदम उठाना पड़ेगाl

*विनीत*
*राजा मंडलोई,   महेंद्र तोमर,  हंसराज तोमर,  मुकेश भगोरिया*

*संपर्क - 6263663379*


Post A Comment:

0 comments: