खिलेडी~~रूठे हुए इंद्रदेव को मनाने काकड़ पूजा करने पहुंची गांव की महिलाएं काकड़ पूजा कर बारिश के लिए सड़क पर लुढ़कते लुढ़कते चली गांव की ओर महिलाए~~

जगदीश चौधरी खिलेडी 6261395702~~

मानसून की बेरुखी से किसानों को चिंता में डाल रखा है किसानों ने जबसे बोवनी की है उसके बाद से बारिश नहीं होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें दिखाई दे रही है क्षेत्र में बोनी करें 20 दिन से अधिक हो गए हैं अभी तक बारिश नहीं होने से जमीन के अंदर की नमी भी अब खत्म होने को आई है प्रतिदिन तेज गर्मी वह तेज धूप से खेतों में नमी कम हो रही हैं इनके अंदर बोया गया बीज गर्मी से खराब होने की कगार पर पहुंच गया है अंकुरित छोटे-छोटे पौधे की रफ्तार रुक गई है इस वजह से किसानों को लाखों रुपए का बीज की बुआई खाराब हो जाएगी और फिर से बोवनी करना पड़ेगी बारिश की चिंता में ग्रामीण अंचलों में रूठे हुए इंद्रदेव को मनाने के लिए कई तरह के जतन भी शुरू हो गए हैं इसी के चलते गुरुवार देर शाम को गांव की महिलाओं ने काकड़ पूजा करने जाने से पहले गांव के हनुमान मंदिर चामुंडा माता मंदिर चारभुजा मंदिर भगवती माता मंदिर तेजाजी मंदिर शिव मंदिर सभी मंदिरों में जाकर भगवान को निमंत्रण देते हुए गांव की काकड़ पर जाकर काकड़ पूजा कर इंद्रदेव को मनाने पहुंचे। महिलाएं नगर से ढोल धमाके के साथ काकड़ पूजा की वहीं कई महिलाएं इंद्र देव भगवान को मनाने के लिए काकड़ पूजा कर फुलेडी फाटे से गांव तक सड़क पर लुढ़कते लुढ़कते चली काकड़ पूजन कर गांव के मंदिरों तक पहुंची वही बारिश के लिए महिलाएं मंगल गीत गाती हुई चल रही थी।


Post A Comment:

0 comments: