खिलेडी~उण्डेेश्वर नदी से जल भरकर कोद कोटेश्वर धाम से कावड़ यात्रा~~

जगदीश चौधरी खिलेडी 6261395702~~

खिलेडी~~ प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी हरियाली अमावस्या व श्रावण माह के तीसरे सोमवार के अवसर पर गांव के कुछ युवाओं मित्र मडंल द्धारा कावड यात्रा जयंती धाम उण्डेश्वर महादेव मंदिर  से उण्डेेश्वर नदी से जल भरकर कोद कोटेश्वर धाम के लिए यात्रा शुरू हुई।यात्रा आरम्भ के पहले पडित जी ने वैदिक मंत्रो के द्धारा  कावड का पुजन किया गया एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालनकर व मुंह पर मास्क लगाकर युवाओं द्धारा कावड लेकर भोले के जयकारे लगाकर कोद कोटेश्वर धाम के लिए निकले जो चिराखा‌न,बिडवाल,कोद होते हुए कोद कोटेश्वर धाम पहुंचकर भगवान भोले का जयंती धाम उण्डेश्वर नदी के जल से जला अभिषेक किया गया पर कोरोना महामारी के कारण धुम-धाम एवं डी जे की धुन पर नाचते गाते नहीं निकाल पाए।कोरोना महामारी के कारण ज्यादा भीड की प्रशासन से इजाजत भी नहीं है, एवं जिम्मेदार नागरिक होने के नाते इस विपदा के समय कावड यात्रा सावधानी पुर्वक निकाली गई।वही सावन महा के तीसरे सोमवार शिव मंदिरों मे भक्तों की भीड़ लगी रही एवं हरियाली अमावस्या सोमती अमावस्या के अवसर पर महिलाओं ने शिव जी के पुजन के साथ पिपल की परिक्रमा कर सोमती अमावस्या का पुजन किया गया वही खिलेडी गाँव के अति प्राचीन शिव मंदिर मे शिव भक्तों के द्धारा प्रति श्रावण सोमवार के अनुसार तीसरे सोमवार को भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ गाँव मे शाम को शिव पालकी निकाली गई।


Post A Comment:

0 comments: