बीड़~तीन नंबर यूनिट हुई अचानक बंद, लोंड पर कर रही थी काम.~~

एक नंबर यूनिट ओवरऑल के चलते है बंद~~

दो और चार नंबर युनिट से हो रहा है उत्पादन ~~

बीड़ :-- रवि सलुजा ~~

संत सिंगाजी थर्मल पांवर परियोजना मे प्रथम फेस की दो नंबर 600 मेगावाट और दुसरे फेस की 660 मेगावाट की चार नंबर  युनिट से बिजली उत्तपादन चल रहा है  पूर्व के लगभग कुछ दिनों से पहली 600 मेगावाट की यूनिट का औवर आल भी चल रहा है जिससे  30 जुलाई तक औवर आल खत्म कर युनिट को शुरु भी करना था परन्तु यूनिट का ओवर आल कर रहे श्रमिकों को करोना सक्रमित होने एक नंबर कि यूनिट का औवर आल भी बंद हो चुका है वही 8 जुलाई को तीन नंबर  यूनिट का लाइट ऑफ किया  था लाइट ऑप  होने के बाद ही कुछ दिन  में ही यूनिट ने ट्रिप मारा गया था उत्पादन कर रही  बार-बार यूनिट के ट्रिप मारने से सवालिया निशान भी परियोजना के जवाबदार के ऊपर उठ रहे थे  वही देखा जाए तो तीन नंबर की यूनिट सुपरक्रिटिकल यूनिट है इसे नई तकनीकी के चलते बनाया गया है  यूनिट के बार-बार ट्रिप मानने से कहीं ना कहीं मेंटेनेंस के नाम पर सवालिया निशान भी खड़े होते हैं  परंतु सोमवार को चल रही 660 मेगावाट की तीन नंबर की यूनिट अचानक  बंद हो चुकी है फिलहाल दो ही यूनिट से संत सिंगाजी थर्मल पांवर परियोजना की यूनिट से उत्पादन किया जा रहा है

इनका कहना:-

तीन नंबर की यूनिट को बंद जरूर किया गया है यूनिट का पीजी टेस्ट कराना है पीजी टेस्ट की कुछ तैयारियां चल रही है जिसको लेकर यूनिट उत्पादन को बंद रखा गया है दो और चार नंबर की यूनिट से उत्तपादन किया जा रहा है एक नंबर यूनिट का और आल  चल रहा था परंतु औवर आल कर रहे श्रमिक कोरोना संक्रमित होने से एक नंबर की का औवर आल भी बंद कर दिया गया है

राकेश मल्होत्रा पीआरओ संत सिंगाजी थर्मल पांवर परियोजना


Post A Comment:

0 comments: