भिंड~रणवीर पर भारी पड़ी ओपीएस के मंत्री पद की दावेदारी*~~

भिंड से गिर्राज बौहरे की रिपोर्ट~~

भिंड- आज मध्यप्रदेश सरकार में शिवराज मंत्रिमंडल का गठन आखिरकार हो ही गया इसमे से कुछ वरिष्ठ भाजपाइयों को भी दरकिनार किया गया तो वही जो नेता सरकार बनने के बाद अपनी लगातार मंत्री पद की दावेदारी देते आ रहे थे उनमें से आज कुछ नेताओं को दरकिनार भी किया गया जिनमे से सिंधिया समर्थक गोहद से पूर्व विधायक रणवीर जाटव का नाम प्रमुखता से माना जा रहा है मंत्रिमंडल के गठन के पूर्व सूत्रों से जानकारी मिल रही थी कि भिंड जिले से दो मंत्री बनाया जाना तय है जिनमे से एक अटेर से विधायक अरबिंद भदौरिया ओर दूसरे गोहद से पूर्व विधायक रणवीर जाटव का नाम शामिल था लेकिन जैसे ही मंत्रिमंडल के गठन की बारी आई तो दिल्ली हाईकमान तक रणवीर जाटव का नाम जाने के बाद एकाएक मंत्री पद की लिस्ट से नाम कट जाना आमजनता में चर्चा का विषय बना हुआ है कि आखिर हुआ क्या जिसने सिंधिया के कहने पर अपनी पार्टी से स्तीफा देकर विधायकी भी छोड़ी ओर कमलनाथ सरकार को कुर्सी से रोड पर लाकर खड़ा कर दिया क्योंकि कमलनाथ सरकार बनने के बाद रणवीर जाटव की नाराजगी दिखाई भी दे रही थी कई बार उन्होंने खुलकर कमलनाथ सरकार के मंत्रियों का विरोध कर गंभीर आरोप भी लगाए थे लेकिन जब स्टीफ़े की बात आई तो भी वो पीछे नही हटे।
दरअसल 24 सीटो पर उपचुनाव होने है जिनमे चम्बल ग्वालियर संभाग में 16 सीटों पर चुनाव होना है चुनाव में दलित बोटर भी भी अपनी अहम भूमिका निभाता है इसलिए माना जा रहा था कि दलित मतदाताओ को साधने के लिए रणवीर जाटव का मंत्री बनाना तय था लेकिन अचानक रात बदलते ही उनका मंत्री पद से पत्ता साफ करके मेहगांव से पूर्व विधायक ओपीएस भदौरिया को राज्यमंत्री पद से शिवराज मंत्रीमंडल में नवाजा गया है


Post A Comment:

0 comments: