*बड़ी खट्टाली~अपनी कला से सबका मन मोहता एक कलाकार*~~

*सावन सोमवार  के उपलक्ष्य में बनाइ  मिट्टी से भोलेनाथ की आकृति*~~

बड़ी खट्टाली:-चारभुजा धाम खट्टाली जो कि आलीराजपुर जिले की शान हे इसी कड़ी मे एक कलाकार जिसका हुनर अपनी कला को निखार कर उसे मुर्त रुप देना होता हे जिसका एक जीता जागता उदाहरण ग्राम के प्रजापत समाज के भगवान दास प्रजापत द्वारा मिट्टी से भगवान की मूर्ति बनाकर पेश किया हैं।कला एसी  जो मन को मोह ले ।
प्रसंग चाहे गणेश उत्सव हों या सावन माह का सोमवार ,  भोलेनाथ भगवान की आकृति बनाना हो या फिर गणेश जी की प्रतिमा , मिट्टी से बने बर्तन पर एक मनोहरी आकृति बनाकर  हर कला प्रेमी को अपनी कला का हुनर प्रस्तुत कर भक्तों के मन को मोहने वाले  प्रजापत समाज के इस युवक  द्वारा  मनोहारी दृश्य प्रस्तुत किया जा रहा हे जो कि  भक्तों के मन को मोह लेता हे
हम बात कर रहे हैं अलीराजपुर जिले के ग्राम बड़ी खट्टाली के युवा भगवानदास  प्रजापत  की जो श्रावण मास में अपने हाथों से बने मिट्टी के भोलेनाथ से पर्यावरण  को तो बचा ही रहे है साथ ही वह यह बताते है की उन्हें मिट्टी से कलाकृति करना अच्छा लगता है। वह हमेशा से ही हर गणेश उत्सव व शादियों में मिट्टी के गणेश जी की प्रतिमा को आकर्षक बनाकर लोगो को पर्यावरण बचाने मे सहयोग करते हे । साथ ही अपने ग्राम को भी अनूठी पहचान दिला रहे हे।
जब हमने भगवान दास से सम्पर्क किया तो उन्होने बताया की ये कला उन्होने खुद कठिन अभ्यास कर सीखी हे और वे इसमे अधिक से अधिक सुधार लाकर अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहते हे।


Post A Comment:

0 comments: