झाबुआ~प्रशासन की ढिलाई के चलते नही हो रहा सोष्यल डिस्टेंसिंग का पालन-बिना मास्क के घूमने वालो पर नही हो रही कार्यवाही~~





जनप्रतिनिधियो के यहा भी होना चाहिये डिस्टेसिंग का पालन~~





झाबुआ। संजय जैन~~

नगर मे पिछले दिनो कोरोना वायरस  बम का विस्फोट से रोज दिनो दिन पॉजिटिव मरिजो की संख्या मे बढोतरी हुई है। जिस पर से जिला प्रशासन के सख्त निर्देशो के आधार पर नगर मे घूमने एवं घरो से बाहर निकलने वालो को मुंह पर मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। वही जिला प्रशासन के द्वारा बिना मास्क के नगर में घूमने वालो पर सख्ती से कार्यवाही करने के साथ ही उन पर 500 रूपये अर्थदंड जूर्माना भी किया जा रहा है। वही नगर पालिका के द्वारा चलाई जा रही मुहिम में नगर में बिना मास्क घूमने वालो पर 100 रूपये चालान काटकर उन्हे मास्क वितरित किये जा रहे है। लेकिन बावजूद इसके नगर में इन दिनो लोगो के द्वारा अब भी मुंह पर मास्क नही लगाये जा रहे है। ंवही नगर में खुलेआम बिना मास्क के ही घूम रहे है। वही जिला प्रशासन के द्वारा दिये गये आदेशो की धज्जिया उडाई जा रही है। साथ ही नगर पालिका द्वारा चलाये जा रहे मुहिम भी एक दो दिन चलाया गया उसके बाद उसे भी बंद कर दिया गया है।




जरूरी है ,चैन को हर हाल मे तोडना...... 





नगर में वर्तमान में कोरोना के मरिजो की संख्या में प्रकोप होने से सक्रमण का खतरा ओर अधिक बढ चुका है। जिससे की जिला प्रशासन के द्वारा दिये गये निर्देशो का पालन करना ही स्वयं एवं परिवार को सुरक्षित रखा जा सकता है। ऐसे में ग्रामीण अंचलो से आने वाले ग्रामीणो के द्वारा मुंह पर मास्क नही लगाये जा रहे है। आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले में शिक्षा के अभाव मे भी कई लोगो को यह समझ नही आ रही रहे कि कोरोना वायरस एक बडी महामारी है जिसकी रोकथाम जरूरी है यह एक जानलेवा संक्रमण है जिसकी चैन को हर हाल मे तोडना जरूरी है। इसके लिये लोगो को एक दुसरे से सोश्यल डिस्टेसिग का पालन कर मुंह पर मास्क लगाना होगा जिससे की कोरोना वायरस को रोका जा सकता है। 




-गांव गांव करना होगा प्रचार प्रसार ....





झाबुआ जिले के प्रत्येक गांव गांव फलिये फलिये तक जिला  प्रशासन के द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर ग्रामीणो को जागरूक करना होगा जिससे की उन्हे कोरोना महामारी के प्रकोप के बारे मे बताया जाये। वही उसके दुष्परिणाम के बारे में भी बताना होगा कि यह संक्रमण जानलेवा भी साबित हो रहा है। यदि सोश्यल डिस्टेसिंग ओर मुंह पर मास्क नही लगाया जायेगा तो संक्रमण का शिकार होना पड सकता है। वही यह घर के एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भी फैल सकता है। घर के 60 वर्ष से उपर के बुर्जूगो को यह संक्रमण ज्यादा प्रभावित कर रहा है। जिससे की उनकी मृत्यु तक हो सकती है। ऐसे में हर गांव गांव फलिये फलिये तक इस जागरूकता अभियान को चलाकर गा्रमीणो को जागरूक करना होगा। वर्तमान में गा्रमीणो मे यह अफवाह है कि यह कोरोना वायरस कुछ भी नही है ,इससे कुछ नही होता है। लेकिन जिला प्रशासन को एलसीडी या प्रोजेक्टरो, अनांसमेन्ट, नाट्य रूपांन्तरण आदि के माध्यम से देश विदेश के हाल बताने होगे कि इस वायरस से लोगो की कितनी मौते हुई है....? जिससे की बचाव करना हर एक व्यक्ति का कव्र्तव्य है। 




-जनप्रतिनिधियों के यहां भी एकत्रित होने वाली भीड पर लगना चाहिये अंकुश....





 कोराना वायरस की महामारी के चलते प्रोटेम विधानसभा स्पीकर द्वारा सर्वदलीय बैठक लेकर लिये गये निर्णय के अनुसार विधानसभा के 22 जुलाई से  होने वाले वर्षाकालीन सत्र की बैठको को निरस्त कर दिया है। प्रदेश सरकार ने विवाह समारोह मे वर-वधु दोनो पक्षो से 10-10 एव मृत्यु होने पर 20 लोगो की अधिकतम उपस्थिति होने के आदेश जारी करके इसका क्रियान्वयन भी लागू करवा दिया है । किन्तु जिले के जितेने भी जन प्रतिनिधि चाहे वे विधायक हो या सांसद या जिला पंचायत के अध्यक्ष हो या पार्टी के कार्यालय हो ,वहां प्रतिदिन जन प्रतिनिधियो से मिलने वालों का तांता लगा रहता है।ं प्रतीक्षारत लोग बिना सोश्यल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए उनके यहां बैठे हुए आम तौर पर दिखाई देते है। इसलिये जरूरी है कि जन प्रतिनिधियों के यहां भी जिस तरह मदिर-मस्जिद आदि मे सीमित सख्या मे लोगो का प्रवेश सोश्यल डिस्टेसिग के साथ कराया जाता है,उसी तरह जनप्रतिनिधियो के यहा भी एकत्रित होने वाली अचल के लोगो की भीड को भी प्रतिबंधित करना वर्तमान परिप्रेक्ष्य में जरूरी है। इसके लिये जन प्रतिनिधियों को अपने अपने क्षेत्र मे अपने  ऐसे प्रतिनिधि तैनात कर देना चाहिये जो लोगों की समस्याओ एवं आवेदनो को लेकर उसका जनप्रतिनिधि के माध्यम से निराकरण करवा सकें । जब तक जन प्रतिनिधियों के यहां प्रतिदिन एकत्रित होने वाली भीड सोश्यल डिस्टेंसिंग एवं मास्क लगा कर नही पहूंचेगी तब तक आशंका बनी रहेगी कि न जाने किसके माध्यम से कोरोना किसी को भी लग जाये ।




Post A Comment:

0 comments: