*सरदारपुर~माही डैम के बैक वाटर टापू को देख कलेक्टर बोले यह तो धार जिले का हनुवंतिया है*~~
                         
*मनरेगा के तहत लाबरिया पर्यटक स्थल का कलेक्टर ने किया निरीक्षण, कहा अंतिम छोर पर एक वूडन व्यू पांइट बनाएं जिसकी छत से पूरे स्पाट का नजारा किया जा सके*~~

*मोहन पुरोहित की रिपोर्ट Mo.9977526447* ~~

       यूं तो धार जिला आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है, जहां कृषि और मजदूरी सबसे ज्यादा होती है. लेकिन पिछले कुछ समय से इस जिले को औद्योगिक और व्यापारिक पहचान भी मिली है। पीथमपुर जैसे औद्योगिक क्षेत्र के अलावा राजगढ़ धामनोद, मनावर, बदनावर, धार जैसे बड़े व्यापारिक केंद्रों से आदिवासी लोगों को रोजगार की उपलब्धता आसानी से होने लगी है। इसके अलावा प्रशासन अब धार जिले के ऐसे स्पाट चिन्हित कर रहा है, जहां पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके। इसी के तहत सरदारपुर जनपद पंचायत की लाबरिया ग्राम पंचायत में माही डैम के बैक वाटर पर बने प्राकृतिक टापू पर मनरेगा के तहत पर्यटक स्थल विकसित किया जा रहा है। आज कलेक्टर धार श्री आलोक कुमार सिंह ने इस प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया तो तारीफ किए बिना रह नहीं सके। उन्होंने कहा कि यह तो धार जिले का हनुवंतिया पर्यटक स्थल जैसा दिखाई दे रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि टापू के अंतिम छोर पर वूडन व्यू पाइंट बनाया जाए, जिसकी छत से पूरे स्पाट का नज़ारा किया जा सके। यहां सोलर लाईट, पेयजल के लिए आरओ भी लगाएं। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर के साथ जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संतोष वर्मा भी रहे, जिन्होंने पर्यटक स्थल प्रोजेक्ट के बारे में पूरी जानकारी दी।
        गौरतलब है कि सरदारपुर जनपद जिले का ठेठ आदिवासी क्षेत्र है जहां से लोग रोजगार की तलाश में यहां वहां भटकते रहते हैं। इस क्षेत्र में पर्यटक स्थल तैयार हो जाने से कई लोगों को रोजगार मिलेगा जैसे होटल ढाबे आदि शुरू हो सकेंगे. बता दें कि लाबरिया ग्राम पंचायत में माही नदी पर बने डैम के बैक वाटर वाले टापू पर मनरेगा के तहत पर्यटक स्थल तैयार हो रहा है, जहां पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए एक खूबसूरत बगीचा भी तैयार किया जा रहा है. 4 हेक्टेयर भूमि पर 2500 पौधे लगाना है. यहां लगने वाले पौधों में आम, अमरूद, आंवला, जामुन जैसे फलदार पौधे लगाए जा रहे हैं. कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान कहा कि पौधे कुछ नई वैरायटी के हों, जो कम मेंटेनेंस में लंबे समय तक खूबसूरती प्रदान करते रहे. उद्यान को खूबसूरत बनाने के लिए अट्ठारह सौ मीटर लंबी बोल्डर वाल, 1800 मीटर पाथ वे, 500 मीटर सेंटर पाथवे, सेंटर पाथवे के दोनों साइड फूलदार परमानेंट पौधे हेज् लगेंगे. शनिवार को निरीक्षण के दौरान कलेक्टर आलोक कुमार सिंह व जिला पंचायत सीईओ संतोष वर्मा ने पौधारोपण कर प्राकृतिक सौंदर्य की शुरुआत कर दी है. कलेक्टर ने सरदारपुर चिकित्सालय एसडीएम कार्यालय और तहसील कार्यालय का निरीक्षण भी किया. सरदारपुर एसडीएम विजय राय भी साथ थे ।                                         ब्यूरो रिपोर्ट मोहन पुरोहित जिला ब्यूरो धार !


Post A Comment:

0 comments: