राजोद ~कोरोना महामारी के चलते भारत सरकार के कोविड - 19 के प्रतिबंधात्मक आदेश के पालन में प्रशासन सख्ती बरतने का सन्देश ~~

पवन वीर राजोद 9993688124~~

राजोद ~कोरोना महामारी के चलते भारत सरकार के कोविड - 19 के प्रतिबंधात्मक आदेश के पालन में प्रशासन सख्ती बरतने का सन्देश सरदारपुर तहसील के स्वास्थ्य विभाग अधिकारी श्री डाँ. एमएल जैन एवं उनकी टीम के साथ नगर चिकित्सा अधिकारी श्री डॉ.अोपी.परमार साहब के साथ पुलिस प्रशासन ने कोरोना के प्रति जागरूकता को लेकर राजोद नगर का भ्रमण किया। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए व्यापारी एवं ग्रामीणों से मुलाकात कर संबोधित करते हुए कहा की कोरोना महामारी के सम्बन्ध मे आए है, अभी तक मालूम था की हमारे गाँव सुरक्षित थे लेकिन तीन चार दिन से ऐसे संकेत मिल रहे है।की महामारी ने अपना रुख गाँव की तरफ कर लिया है, इसी से चिंतित होकर हम आपके बीच उपस्थित हुए है, कोरोना संक्रमण काफी विकराल रुप ले चुका है,सरदारपुर,राजगढ मे आपने सुना होगा की हमारे कई साथी छीन चुके है इसी चिंता से आए है आपके बीच हम चाहते है की‌ यह बीमारी आपसे दुर ही रहे।जो आनेवाला सितंबर माह इस बीमारी का सबसे खतरनाक होने वाला है हम चाहते है की जो सावधानी  बता रहे हैं वह समय-समय पर शासन मीडिया के द्वारा आपके बीच अपनी सूचना पहुंचा रहे हैं, हम चाहते हैं कि इस नियम का शत प्रतिशत पालन हो,ताकि हम इस बीमारी से बच सके सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बिना काम से घर से  बाहर ना निकले  एवं गांव से बाहर न जाएं, जब  तक यह संक्रमण फैला हुआ है जन्म मृत्यु का सवाल हो तो ही घर से बाहर निकले, अपना घर या अपना गांव ना छोड़े किसी कारण वंश बाहर जाना पड़े तो पूरी सावधानी से जाना है, मास्क लगाना है, सेनीटाइजर साथ में रखना है, जिस काम के लिए गए  वह काम निपटा कर जल्दी आना है ,यह महत्वपूर्ण जानकारी रखना है किसी को अपने घर नहीं आने देना है किसी संकोच वश नहीं बोल सकते हो तो उनको बता दे स्वास्थ्य विभाग ने घर पर आने का मना बोला है ,जब तक यह संक्रमण फैला हुआ है जब तक यह सावधानी जरूरी रखना है ऐसा करके ही इस बीमारी से हम  बच सकते हैं, अपना यह क्षेत्र इस महामारी से अभी सुरक्षित है, सर्दी खांसी होने पर सबसे पहले सभी अपने आप को अलग कर ले, अपनी मर्जी से गोली नही खाए तुरंत डॉक्टर साहब को बताएं एवं जो सलाह दे उसका पालन करें जिसने समय पर इलाज में लापरवाही की उसे हम बचा नहीं पाए , मास्क इस बीमारी से लड़ने के लिए यह एक सार्थक साधन है मास्क का उपयोग करने की आदत डाल ले और सही तरीके से लगाना है, मुंह नाक पूरी तरह ढकना है इस बीमारी का शिकार सबसे पहले वृद्धलोगों को एवं ब्लड प्रेशर हो उनको बहुत जल्दी यह संक्रमण फैलता है, जब तक यह संक्रमण है तब तक उनकी सावधानी रखना है अगर हम बाहर जाते हैं तो सबसे पहले साबुन से अपने हाथ धोना हैं उसके बाद कहीं किसी को छूना है यह छोटी मोटी सावधानियां दैनिक जीवन में लाना है।वही डॉ. एम.एल जैन के साथ मेडिकल ऑफिसर डॉ. ओपी परमार ,थाना प्रभारी ‍भंवरसिंह वसुनिया,पटवारी रघुवीर सिंह डोडिया,व्यापारी,नगर के गणमान्य नागरिक ,पुलिस प्रशासन भी साथ था।


Post A Comment:

0 comments: