।।  *सुप्रभातम्*  ।।
                ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 28 अगस्त 2020 शुक्रवार संवत् 2077 मास भाद्रपद शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि प्रातः 08:39 बजे तक रहेगी पश्चात् एकादशी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातःकाल 06:05 बजे एवं सूर्यास्त सायं 06:51 बजे होगा । मूल नक्षत्र दोपहर 12:37 बजे तक रहेगा पश्चात् पूर्वाषाढा नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा धन राशि में दिन रात भ्रमण करते रहेंगे । आज का राहुकाल प्रातः 10:56 से 12:30 बजे तक रहेगा । अभीजित् मुहूर्त दोपहर 12:05 से 12:55 बजे तक रहेगा । दिशाशूल पश्चिम दिशा में रहेगा यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा आरंभ करें । जय हो।

                *--:  विशेष  :--*

                  *तेजा दशमी*
लोक देवता तेजाजी का जन्म नागौर जिले में खड़नाल गाँव में ताहरजी (थिरराज) और रामकुंवरी के घर माघ शुक्ला, चौदस संवत 1130 यथा 29 जनवरी 1074 को जाट परिवार में हुआ था। उनके पिता गाँव के मुखिया थे। यहकथा है कि तेजाजी का विवाह बचपन में ही पनेर गाँव में रायमल्जी की पुत्री पेमल के साथ हो गया था किन्तु शादी के कुछ ही समय बाद उनके पिता और पेमल के मामा में कहासुनी हो गयी और तलवार चल गई जिसमें पेमल के मामा की मौत हो गई। इस कारण उनके विवाह की बात को उन्हें बताया नहीं गया था। एक बार तेजाजी को उनकी भाभी ने तानों के रूप में यह बात उनसे कह दी तब तानो से त्रस्त होकर अपनी पत्नी पेमल को लेने के लिए घोड़ी 'लीलण' पर सवार होकर अपनी ससुराल पनेर गए। रास्ते में तेजाजी को एक साँप आग में जलता हुआ मिला तो उन्होंने उस साँप को बचा लिया किन्तु वह साँप जोड़े के बिछुड़ जाने कारण अत्यधिक क्रोधित हुआ और उन्हें डसने लगा तब उन्होंने साँप को लौटते समय डस लेने का वचन दिया और ससुराल की ओर आगे बढ़े। वहाँ किसी अज्ञानता के कारण ससुराल पक्ष से उनकी अवज्ञा हो गई। नाराज तेजाजी वहाँ से वापस लौटने लगे तब पेमल से उनकी प्रथम भेंट उसकी सहेली लाछा गूजरी के यहाँ हुई। उसी रात लाछा गूजरी की गाएं मेर के मीणा चुरा ले गए। लाछा की प्रार्थना पर वचनबद्ध हो कर तेजाजी ने मीणा लुटेरों से संघर्ष कर गाएं छुड़ाई। इस गौरक्षा युद्ध में तेजाजी अत्यधिक घायल हो गए। वापस आने पर वचन की पालना में साँप के बिल पर आए तथा पूरे शरीर पर घाव होने के कारण जीभ पर साँप से कटवाया। किशनगढ़ के पास सुरसरा में सर्पदंश से उनकी मृत्यु *भाद्रपद शुक्ल 10 संवत 1160, तदनुसार 28 अगस्त 1103* हो गई तथा पेमल ने भी उनके साथ जान दे दी। उस साँप ने उनकी वचनबद्धता से प्रसन्न हो कर उन्हें वरदान दिया। इसी वरदान के कारण तेजाजी भी साँपों के देवता के रूप में पूज्य हुए। गाँव गाँव में तेजाजी के देवरे या थान में उनकी तलवारधारी अश्वारोही मूर्ति के साथ नाग देवता की मूर्ति भी होती है। इन देवरो में साँप के काटने पर जहर चूस कर निकाला जाता है तथा तेजाजी की तांत बाँधी जाती है। तेजाजी के निर्वाण दिवस भाद्रपद शुक्ल दशमी को प्रतिवर्ष तेजादशमी के रूप में मनाया जाता है ।  जय  हो  ।

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245, एम. जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार, एम. पी.
                  मो. नं.  9425491351

                    *आज का राशिफल*

          मेष :~ क्रोध पर संयम रखें नही तो आपके कार्य और सम्बंध भी बिगड़ सकते है । मानसिक व्यग्रता और बेचैनी के कारण कार्य में आपका मन न लगे एसा होगा । स्वास्थ्य भी नरम - गरम रहेगा । किसी धार्मिक स्थल अथवा मांगलिक प्रसंग का आमंत्रण मिलेगा ।

          वृषभ :~ शारीरिक अस्वस्थता से तथा कार्यसफलता में विलंब होने से आप निराश होंगे । आज नए कार्य का शुभारंभ न करे । खान - पान का विशेष ध्यान रखें । आज कार्यभार अधिक रहेगा । इसलिए शिथिलता रहेगी । बेहतर होगा आज किसी कार्य के पीछे मानसिक सुख शांति न गंवाकर योग , ध्यान और आध्यात्मिकता का आश्रय लें ।

          मिथुन :~ आज का दिन आनंद - प्रमोद में बीतेगा । शारीरिक और मानसिक खुशी होगी । मित्रो और परिवारजनो के साथ प्रवास या पर्यटन का आनंद उठा सकेंगे । स्वादिष्ट भोजन के साथ नए वस्त्रो की खरीदी करेंगे । वाहनसुख भी मिलेगा । आपके मान - सम्मान और लोकप्रियता में भी वृद्धि होगी ।

          कर्क :~ व्यवसाय में आज  लाभदायक है । कार्यालय में सहकार्यकरों का सहयोग मिलेगा । परिवार के साथ आज आनंदपूर्वक समय बिताएँगे । मानसिकरुप से संपूर्ण स्वस्थ रहेंगे । प्रतिस्पर्धियों पर विजय मिलेगी । कार्य में यश प्राप्त होगा । खर्च अधिक होगा ।

          सिंह :~ आज सृजनात्मकता और कला संबंधी प्रवृत्तियों के लिए दिन श्रेष्ठ है । विद्यार्थिगण भी अभ्यास में उत्कृष्ट प्रदर्शन करेंगे । मित्रों से भेंट होगी । शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा । फिर भी क्रोध पर संयम रखें , जिससे मानसिक एकाग्रता रहेगी ।

          कन्या :~ आज का दिन प्रतिकूल रहेगा । शारीरिक स्फूर्ति का अभाव रहेगा और मानसिक चिंता रहेगी । पत्नी के साथ कलह अथवा अनबन होगी । माता के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी । स्थाई संपत्ति के कार्य में सावधानी बरतें ।

          तुला :~ आजका दिन आनंद में बितेगा । प्रतिस्पर्धियों के समक्ष विजय प्राप्त होगी । प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी । स्वजनों से आज भेंट होगी । मानसिकरुप से प्रसन्न रहेंगे । धार्मिक प्रवास से आनंद होगा । संबंधो की भावना मन को द्रवित कर देगी ।

          वृश्चिक :~ परिवार में क्लेशमुक्त वातावरण के लिए वाणी पर संयम रखें । आपके व्यवहार से किसी को ठेस पहुंच सकती है । इसलिए व्यवहार संयमित रखें । नकारात्मकता आप पर हावी न हो जाय ध्यान रखें । स्वास्थ्य बिगड़ सकता है । मन में ग्लानि रहेगी ।

          धनु :~ आज धार्मिक प्रवास हो सकता हैं । आप निर्धारित कार्यों को संपन्न कर सकेंगे । शारीरिक और मानसिक स्वस्थता रहेगी , जिससे स्फूर्त और प्रसन्न रहेंगे । परिवार में मांगलिक प्रसंग बनेंगे । स्वजनो के साथ हुई मुलाकात मन प्रसन्न होगा । सामाजिक मान - प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी ।

          मकर :~ कोर्ट - कचहरी से संबंधित कार्य होंगे । व्यवसाय मे विध्न आयेंगे । स्नेहीजनो की प्रतिष्ठा में हानि होगी । शारीरिक स्फूर्ति तथा मानसिक प्रसन्नता में कमी होगी । अकस्मात और आपरेशन से बचें । परिश्रम के अनुसार फल प्राप्त न होने पर निराशा  होगी ।

          कुंभ :~ व्यवसाय में आज लाभ ही लाभ है । मित्रों के भेंट से मन में आनंद रहेगा । उनके साथ प्रवास भी हो सकता है । नए कार्य का शुभारंभ आपके लिए लाभदायी रहेगा ।

          मीन :~ व्यवसाय मे आज लाभदाय दिन है । कार्यसफलता से अधिकारी आप पर प्रसन्न रहेंगे । व्यवसाय में पदोन्नति है । व्यापार में लाभ होगा तथा उनके कार्य क्षेत्र में वृद्धि होगी । पिता से लाभ होगा । परिवार में वातावरण आनंददायी रहेगा । मान - प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  गुरूवार  ।।


Post A Comment:

0 comments: