धार/नागदा~प्रशासन के निर्देश पर भगवान के झुले नगर में नहीं नही निकले वर्षों की परम्परा महामारी के कारण टुटी ~~

संतोष जायसवाल नागदा 9993949709 ~~

नागदा (धार) कोरोना महामारी के कारण नागदा नगर मे भगवान के झुले नही निकले वर्षों की परम्परा  महामारी के कारण टुटी वही डोल ग्यारस पर्व शनिवार को मंदिर परिसर मे ही  झुलो को सजा कर भगवान को भक्तों ने पुजा कर झुलाया गया नगर के राधाकृष्ण मंदिर माली समाज लक्ष्मीनारायण मंदिर दर्जी समाज पंचायती पटेल मंदिर राधाकृष्ण मंदिर गुजराती मालवी (बलाई) समाज मंदिर परिसर को विधुत रोशनी से सजाया गया था और समाज जनो ने पुजा अर्चना कर भगवान को झुलाया गया वही गुजराती मालवी मंदिर के मांगीलाल जी राठौर माली समाज के मुन्नालाल जी देवड़ा व दर्जी समाज के हीरालाल जी सोलंकी ने बताया कि प्रशासन के सख्त आदेश व हमारी सुरक्षा को देखते हुए  इस बार नगर मे भगवान की झाकी नही नीकालेगे हम प्रतिवर्ष डी जे डोल व अखाड़े के साथ भगवान की झांकी निकालते हैं जो पुरे नगर में प्रमुख मार्गों से गुजरते झाकीयो के आगे अखाड़े चलते हैं जिनका जगह जगह मंच बनाकर स्वागत होता है और यह सीलसीला देर रात्रि तक चलता है जो इस बार मंदिर परिसर में सिमट गया वही सुरक्षा की दृष्टि से कानवन थाना प्रभारी के एस गेहलोद सुबह से ही सख्त दिखे सभी मंदिर प्रमुखों को सुचना के माध्यम से अवगत किया गया था कि झुले नगर में नही निकाले मंदिर परिसर में ही शोसल डिस्टेंसिंग के अनुसार ही दर्शन करवाये


Post A Comment:

0 comments: