बड़वानी~सभी बच्चे उन्नति करे इसके लिए उन्हे दिलवाई जाये बेहतर से बेहतर शिक्षा - कलेक्टर श्री शिवराज सिंह वर्मा~~

बड़वानी /हमारे जिले की विशेष परिस्थितियों के मद्देनजर हमारा प्रयास होना चाहिए कि दूर-दराज क्षेत्रों के रहने वाले बच्चों को भी हम बेहतर से बेहतर शिक्षा दिलवा सके। जिससे वे भी विकास की दौड़ में आगे आते हुए अपना एवं क्षेत्र के विकास में योगदान दे सके। इसके लिए अगर कोई शिक्षक अपना सुझाव भी देना चाहे तो वह अपना सुझाव दे सकता है। जिससे चिंतन-मनन के दौरान इस पर चर्चा कर उचित निर्णय लिया जा सके।
कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने शनिवार को जिले में शैक्षणिक गतिविधियों के क्रियान्वयन की समीक्षा करते हुए उक्त विचार व्यक्त किये। बैठक में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग श्री विवेक पाण्डे, जिला शिक्षा अधिकारी श्री ए एस सोलंकी, जिला परियोजना समन्वयक श्री संजयसिंह तोमर, प्राचार्य डाईट श्री एम एल वास्कले, एडीपीसी श्री महेश निहाले, समस्त एपीसी, एई, प्रोग्रामर, बीईओ, बीआरसी एवं सबइंजीनियर उपस्थित थे।
कलेक्टर द्वारा समीक्षा के दौरान उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि आवास सहायता योजना, छात्रवृत्ति आदि हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ समस्त विद्यार्थियों को समय पर मिल जाये, यह अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जाये। इसके लिए संबंधित पदाधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि उनके कार्यालय में उक्त प्रकरण पेंडिंग नही है। साथ ही उन्होने विभागीय निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि यह कार्य गुणवत्ता युक्त एवं निर्धारित समयावधि में पूर्ण हो जाये यह भी देखा जाये जिससे बच्चों को इनका लाभ त्वरित रूप से मिल सके। अगर कही पर निर्माण कार्य में भूमि की उपलब्धता बाधा बन रही है तो उसके लिए संबंधित एसडीएम से मिलकर इसका निराकरण करवाया जाये। इसी प्रकार बैठक के दौरान कलेक्टर ने विद्यार्थियों को मिलने वाले सीधे लाभों की भी समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि विद्यार्थियों को मिलने वाली यूनिफार्म, पुस्तके, मध्यान्ह भोजन, छात्रावासों/आश्रमों में उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाएं समय पर मिल जाये। 
बैठक के दौरान कलेक्टर ने हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी की कक्षाओं में ऑनलाईन वीडियों क्रान्फ्रेंसिंग के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाने की योजना तैयार करने, विद्यार्थियों को आयआयटी, नीट आदि प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी हेतु उत्कृष्ट शिक्षकों का चिन्हांकन कर उन्हे इस कार्ययोजना से जोड़ने का प्रस्ताव बनाने के भी निर्देश दिये।
अंत में कलेक्टर ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोरोना महामारी के चलते सभी शिक्षकों, स्कूली बच्चों  एवं उनके पालकों को यह संदेश भिजवाये कि वे भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचे और स्वच्छता, मास्क लगाना आदि आवश्यक सावधानियां रखकर स्वयं को एवं अपने परिवार को सुरक्षित रखे।


Post A Comment:

0 comments: