झाबुआ~नगर मे नही हो पा रही आवारा मवेशियो की धरपकड पर पूर्ण रूप से कार्यवाही-नगर पालिका ने थोडे दिन कार्यवाही कर कार्य को दिया विराम~~





झाबुआ। संजय जैन~~

बिते दिनो हुये आवारा मवेशियो की आपसी लडाई में एक परिवार के चिराग को अपनी जान गवाना पडी। जिस पर से ेनगर पालिका विभाग द्वारा आवारा मवेशियो की धरपकड शुरू हुई। वही कुछ दिन तक यह सिलसिला जारी रहा लेकिन बाद मे इस कार्यवाही पर विराम सा लगता दिखाई दे रहा है। वही आज की स्थिति यह है कि नगर पालिका के द्वारा आवारा मवेशियो की धरपकड नही हो पा रही है ओर नगर मे जहा देखो वहा पर आवारा मवेशियो को झुंड दिखाई दे रहा है। ऐसे में भविष्य में कही एक ओर हादसा इन आवारा मवेशियो से ना हो इसके लिये नगर पालिका के द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही है। वही उत्कृष्ट रोड,नगर के मुख्य मार्गो ,गोपाल कॉलोनी,सज्जन रोड,राजवाडा चौक आदि कई स्थानो पर आवारा मवेशियो का जमावडा दिखाई देने लगा है। ऐसे में यदि इन मवेशियो के आपसी लडाई में यदि फिर एक इंसान की जान अगर जाती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। 




-कांजीहाउस के दस्तावेजो ओर फाईलो को गायब करवा दिया....





समाजसेवी एवं पूर्व नगर पालिका निर्माण समिति पार्षद एवं संदस्य यशंवत भंडारी द्वारा बताया गया कि बरसो पहले कांजीहाउस की व्यवस्था की जाती थी। लेकिन अधिकारियो एवं नेतापक्षकारो एवं रसुखदारो के द्वारा पुरी जमीन को जानबुझाकर के अतिक्रमण करवा दिया। ओर उसके दस्तावेजो ओर फाईलो को गायब करवा दिया। 




-मालिक नही माने तो उन पर जूर्माना लगाना चाहिये....





समाजसेवी एवं व्यापारी संघ के अध्यक्ष नीरजराठौर ने बताया कि नगर पालिका को नगर में जितने भी पशु आवारा घूम रहे है उनके मालिको से उनकी पहचान करवाकर उन्हे नगर पालिका के द्वारा सूचना एवं समझाइश देनी चाहिये उसके बाद भी यदि उनके पशु नगर मे घूमते हुये पाये जाये तो ओर मालिक नही माने तो उन पर जूर्माना लगाना चाहिये। जिससे की मालिको पर यदि आर्थिक दंड करवाया जायेगा तो ही वे इस ओर सर्तक हो सकेगे। 




Post A Comment:

0 comments: