झाबुआ~विवाद के चलते सैकडो लोग हुये जमा -नही दिखा पुलिस का एक भी जवान~~





एक भी कोरोना संक्रमित हो तो कितनो को कर सकता है संक्रमित~~





झाबुआ। संजय जैन~~

कोरोना संक्रमण काल के तहत जहा एक ओर जिला प्रशासन अपनी ओर से हर संभव प्रयास कर रहा है। जिस पर से मरिजो की सुंरक्षा संबंधी एवं लेागो के द्वारा सोश्यल डिस्टेंसिग का पालन करवाया जा रहा है। लेकिन इसके विपरित शनिवार को एक अलग ही नजारा सामने आया जिसे देखकर हर एक ने सिर्फ  यही कहा कि पुलिस जवान कहा है....?




-देखते ही देखते सैकडो की संख्या में लोगो का जमावडा.....





घटना शनिवार को बस स्टैण्ड की है जहां पर एक बाईक पर सवार महिला को अन्य किसी बाईक सवार ने टक्कर मार दी। जिस पर से महिला के द्वारा उस बाईक सवार की गाडी की चाबी निकालकर,उसे करीब 20 से 25 मिनट तक खरी खोटी सुनाई। बस स्टैण्ड एक मेले जैसा माहौल निर्मित हो गया। देखते ही देखते सैकडो की संख्या में लोगो का जमावडा दिखाई दिया। लेनिक सबसे बडी बात यह रही कि ऐसे मौके पर जहा बस स्टेैण्ड ओर फव्वारा चौक पर पुलिस जवानो की तैनाती रहती है लेकिन एक भी जवान नही दिखाई दिया। ऐसे मे यदि एक भी व्यक्ति कोरोना मरिज संक्रमित होता तो वह ना जाने कितनो को संक्रमित कर सकता था। वही इस घटना में कई लोगो ने तो मास्क भी नही लगाये थे ओर सबसे बडी बात कि जिस महिला को टक्कर मारी गई उसने भी मास्क नही पहना था। 




-नही दिखा पुलिस का एक भी जवान.....





ये सोचने की बात है कि जहां एक ओर जिला प्रशासन के द्वारा सोश्यल डिस्टेसिंग ओर मास्क पहनने पर जोर दिया जा रहा है वही दुसरी ओर नगर में आज भी कई लोगो के द्वारा ना ही सोश्यल डिस्टेसिंग का पालन किया जा रहा है ओर ना ही मास्क लगाया जा रहा है। ऐसे में यदि कोरोना का एक भी मरीज इनके बीच आया होगा तो वो ना जाने कितनो का संक्रमित कर देगा ये सोचने का विषय है। खैर ये अलग बात है कि घटना के बाद इतने लोगो का जमावडा हुआ,लेकिन इसके बाद भी पुलिस जवान की अनुपस्थिति रही ये,अपने आप में एक बडा सवाल खडा करता है। नगर में पुलिस जवानो को चौराहो पर तैनात तो किया गया है लेकिन उनके द्वारा दिन भर मोबाईल ही देखे जाते है। यातायात नगर में पुरी तरह से अव्यवस्थित हो चुका है। जिस पर से यातायात पुलिस को कोई ध्यान नही दिया जा रहा है। 




-खडे हो रहे है सवाल ...? 





क्या छतरी चौक से पुलिस जवान की ड्यूटी हटा दी गई थी ...? क्या बस स्टैण्ड पर से पुलिस जवान की ड्यूटी हटा दी गई थी ....? ये माामला करीब 20 से 25 मिनट तक चला तब तक क्या पुलिस तक कोई सुचना नही मिली ....? ये सब सवाल खडे होते है। यदि ऐसे मे कोरोना संक्रमित मरीज इनक संपर्क में आया होगा तो इसकी जिम्मेदारी किसकी होगी ये सवाल खडे हो रहे है.....? 




Post A Comment:

0 comments: