झाबुआ~लॉक डाउन में भी बच्चो से पूरी फीस वसूल रहे झाबुआ के कुछ निजी स्कूल~~





झाबुआ। संजय जैन~~

नगर में कई प्रायवेट स्कूल संचालित किये जा रहे है। स्कूलो के द्वारा ना सिर्फ  ग्रामीण अंचल के झाबुआ के बच्चो को बेहतर भविष्य के लिये एक मजबू नीव दी जा रही है,बल्कि एक बहुत बडे पैमाने पर रोजगार भी तैयार किया जा रहा है । इन स्कूल में पढने वाले बच्चो के अभिाभावक भी अपने बच्चो की गा्रेथ को देखकर संतुष्ट जान पडते है। लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के कारण लॉकडाउन लग जाने के कारण अभिभावको की समस्याये बढ गई है। 




-बच्चो की फीस पूरी क्यो ली जा रही है......?  





अभिाभावको की सीधी ओर स्पष्ट मांग है कि जब कम्प्यूटर क्लासेस नही लग पा रही है, मेस की सुविधा नही मिल पा रही है, ट्रान्सपोर्टटेशन की सुविधा नही मिल पा रही है, स्मार्ट क्लासेस नही लग पा रही है, स्पोट्र्स नही हो पा रहे है, म्यूजिक क्लासेस नही लग पा रही है तो फिर बच्चो की फीस पूरी क्यो ली जा रही है......?  उसमे कोई रियायत क्यो नही दी जा रही है.....? अभिभावको की इस जायज मांग को झाबुआ की गा्रम पंचायत द्वारा उठाया गया है।




-कई प्रायवेट स्कूल है जहा पर सिर्फ  ट्यूशन फीस ली जा रही.....





झाबुआ नगर में ऐसे कई सारे प्रायवेट स्कूल है जहा पर सिर्फ  ट्यूशन फीस ली जा रही है। लेकिन कुछ ऐसे स्कूल भी है जो राज्य सरकार के आदेशो की अव्हेलना कर रहे है ओर पूरी फीस वसूल अभिभावको से ले रहे है। ग्राहक पंचायत की पडताल में कुछ ऐसे स्कूलो का भी पता चला कि जिन्होने बाकी सारी फिसो को ट्यूशन फीस मे जोडकर नया फीस स्ट्रक्चर बना दिया है। अभिभावको की ओर से ग्राम पंचायत का स्पष्ट कहना है कि यदि समय रहते सभी इस तरह के प्रायवेट स्कूलो के द्वारा केवल ट्यूशन फीस लेने के राज्य सरकार के आदेशो का पालन नही किया गया तो गा्रहक पंचायत द्वारा अभिभाषक संघ की स्थापना की जायेगी। 




Post A Comment:

0 comments: