*13 सितंबर को हुए गुरु मार्गी , जानें किन राशि वालों को मिलेगी खुशखबरी* *( डाँ.अशोक शास्त्री )*

इसी वर्ष 4 मई की सायं 07 बजकर 56 मिनट पर वक्री हो चुके बृहस्पति 4 माह 9 दिन के बाद पुनः 13 सितंबर की सुबह 06 बजकर 10 मिनट पर मार्गी हो रहे हैं । मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ.अशोक शास्त्री ने एक चर्चा के दौरान विस्तृत विश्लेषण करते हुए बताया की गुरु के  वक्री एवं मार्गी होने का प्रभाव समस्त भूमंडल पर प्रत्यक्ष दिखाई पड़ता है । स्थूलकाय शरीर , विशाल उदर , भूरे केश तथा भूरी आंखें लिए हुए बृहस्पति मनुष्य के जीवन में मान सम्मान , उत्तम ज्ञान और गहन चिंतनशीलता लाते हैं । इनके शुभ प्रभाव के परिणाम स्वरूप निर्धन परिवार में भी जन्म लेने वाला जातक भी अपने ज्ञान के बल पर जीवन में कार्य व्यापार की दृष्टि से जो कुछ भी करता है उसमें ऊंचाइयां हासिल करता है । ऐसे जातक धर्म - कर्म के मामलों में बढ़-चढ़कर रुचि रखते हैं और दान पुण्य भी करते हैं । डाँ.अशोक शास्त्री के मुताबिक बृहस्पति यदि वक्री हो तो तरह - तरह की समस्याएं भी लाते हैं और मार्गी होने पर स्वयं उन समस्याओं का अंत भी कर देते हैं। इनके मार्गी होने का सभी राशियों पर कैसा प्रभाव रहेगा इसका ज्योतिषीय विश्लेषण करते हैं।

मेष राशि :~ राशि से भाग्यभाव में बृहस्पति का मार्गी होना आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है। काफी दिनों से चली आ रही कार्य बाधाएं दूर होंगी। नौकरी में पदोन्नति एवं मान-सम्मान की वृद्धि के भी योग बनेंगे। विदेश यात्रा अथवा विदेशी नागरिकता के लिए प्रयास करना चाह रहे हों तो अवश्य अनुकूल रहेगा। विद्यार्थियों अथवा प्रतियोगिता में बैठने वालों के लिए भी गुरु का मार्गी होना शुभ संकेत है। संतान संबंधी चिंता दूर होगी। नव दंपति के लिए प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग।

वृषभ राशि :~ राशि से अष्टम भाव में गुरु का गोचर पहले की अपेक्षा बेहतर परिणाम देगा किंतु कार्यक्षेत्र में षड्यंत्र का शिकार होने से बचें। कोर्ट कचहरी के मामले भी बाहर ही सुलझा लें तो बेहतर रहेगा। इसके साथ ही गलत लोगों की संगति से भी दूर रहें। स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। धन भाव पर इनकी दृष्टि के शुभ प्रभाव स्वरूप किसी महंगी वस्तु का क्रय करेंगे। अपनी वाणी कुशलता के बलपर विषम हालात को भी सामान्य कर लेंगे। मकान वाहन खरीदने का भी संकल्प पूर्ण हो सकता है।

मिथुन राशि :~ राशि से सप्तम भाव में गुरु का मार्गी होना धर्म-कर्म के मामलों में आपकी रुचि तो बढ़ाएगा ही शादी विवाह संबंधित वार्ता भी सफल रहेगी। ससुराल पक्ष से सहयोग की उम्मीद। केंद्र अथवा राज्य सरकार के प्रमुख प्रतिष्ठानों में सर्विस आदि के लिए आवेदन करना बेहतर रहेगा। लग्न भाव पर इनकी शुभ दृष्टि के प्रभाव स्वरूप स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। साहस पराक्रम की वृद्धि होगी। आय के साधन भी बढ़ेंगे। चुनाव संबंधी कोई भी बड़ा निर्णय लेना चाह रहे हों तो परिणाम सुखद रहेगा।

कर्क राशि :~ राशि से छठे भाव में गुरु गुप्त शत्रुओं की वृद्धि करेंगे। स्वास्थ्य के प्रति भी हर समय चिंतनशील रहना पड़ेगा। किसी संबंधी अथवा मित्र के द्वारा कष्टकर समाचार मिल सकता है। लेन-देन के मामलों में सावधान रहें। प्रयास करें कि कहीं से भी अधिक ऋण न लेना पड़े। रुके हए धन की वापसी एवं आकस्मिक धन प्राप्ति के भी योग। कार्य व्यापार की दृष्टि से समय अनुकूल। उच्चाधिकारियों से मधुर संबंध बनाए रखें। विदेश यात्रा अथवा विदेशी कंपनियों में सर्विस के लिए आवेदन करना भी सफल रहेगा।

सिंह राशि :~ राशि से पांचवें भाव में गोचर कर रहे बृहस्पति का मार्गी होना आपको शिक्षा के क्षेत्र में अप्रत्याशित सफलता दिलाएगा। किसी भी तरह की प्रतियोगिता में बैठना हो अथवा नौकरी में नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से समय अति अनुकूल है। शासन सत्ता और अपने अधिकारों का पूर्ण सदुपयोग करें। संतान संबंधित तनाव दूर होगा। नव दंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग। गुरु की लाभभाव पर दृष्टि से आय के साधन बढ़ेंगे। भाइयों का भी सहयोग मिलेगा।

कन्या राशि :~ राशि से चतुर्थ भाव में गुरु का मार्गी होना आपको माता पिता से आर्थिक सहयोग तो दिलाएगा ही मित्रों तथा संबंधियों से भी मधुर संबंध बनेंगे। काफी दिनों का प्रतीक्षित पड़ा हुआ कार्य संपन्न होगा। मकान अथवा वाहन खरीदने का निर्णय लेना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा। दशम भाव पर इनकी शुभ दृष्टि के प्रभाव स्वरूप केंद्र अथवा राज्य सरकार से जुड़े हुए कार्यो का निपटारा होगा। जो लोग आप को नीचा दिखाने की कोशिश में लगे थे वै ही आपकी मदद के लिए आगे आएंगे।

तुला राशि :~ राशि से पराक्रम भाव में बृहस्पति का मार्गी होना आप में साहस की वृद्धि तो करेगा ही आपके द्वारा लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना भी होगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। परिवार के वरिष्ठ सदस्य एवं भाइयों से सहयोग की उम्मीद कर सकते हैं। धर्म-कर्म के मामलों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और दान पूर्ण करेंगे। विदेशी नागरिकता के लिए आवेदन करना भी सफल रहेगा। गुरु की भाग्य भाव पर दृष्टि कार्यक्षेत्र का विस्तार करेगी। विद्यार्थियों के लिए समय और भी अनुकूल।

वृश्चिक राशि :~ राशि से धन भाव में गुरु का मार्गी होना आपका आर्थिक पक्ष मजबूत करेगा। आपके सौम्य स्वभाव के फलस्वरुप जहां भी जाएंगे चाहने वालों की भीड़ बढ़ेगी। किसी महंगी वस्तु का क्रय करेंगे। जमीन जायदाद से जुड़े हुए मामलों का निपटारा होगा। वाहन आदि का भी क्रय करना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल। गुरु की आयु भाव पर दृष्टि के प्रभाव स्वरूप स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहना पड़ेगा। विदेशी मित्रों अथवा संबंधियों से मिल रहे सुखद समाचरों से मन प्रसन्न रहेगा।

धनु राशि :~ आपकी राशि में स्वयं वृहस्पति का ही मार्गी होना आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है। काफी दिनों से चला आ रहा मानसिक तनाव दूर होगा आप स्वास्थ्य की दृष्टि से भी काफी अच्छा महसूस करेंगे। शत्रु परास्त होंगे और कोर्ट कचहरी के मामलों में भी निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत। संतान संबंधी चिंता से भी मुक्ति मिलेगी नव दंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग बन रहे हैं। गुरु की शुभ दृष्टि सप्तम भाव पर पड़ी है इसलिए शादी विवाह संबंधित वार्ता सफल रहेगी प्रयास करें।

मकर राशि :~ राशि मे हानि भाव मे गुरु का मार्गी होना उतना अच्छा नही कहा जायेगा क्योंकि आपका खर्च बढ जायेगा।  भागदौड की अधिकता रहेगी  ऐसे मे वाहन सावधानी पूर्वक चलाए दुर्घटनाओं से बचते रहें । व्यर्थ वाद विवाद से भी दूर रहें । गुरु का सुखद प्रभाव यह रहेगा कि आप धर्म-कर्म में अधिक व्यय करेंगे । जरूरतमंदों की मदद मे हमेशा आगे रहेंगे जिसके फलस्वरुप समाज में मान सम्मान बढेगा । छठे भाव पर इसकी दृष्टि के फलस्वरुप गुप्त शत्रु बढेंगे और आपको नीचा दिखाने की कोशिश करेंगे ।

कुंभ राशि :~ राशि से लाभ भाव मे गुरु का मार्गी होना हर तरह से अच्छे संकेत दे रहा हैं । कार्य मे उन्नति होगी । अनुबंध पर हस्ताक्षर करना चाह रहे हैं तो भी समय अनुकूल रहेगा ।

मीन राशि :~ गुरु का यह राशि परिवर्तन आपके लिए सामान्य फलदायी रहेगा । नौकरी को लेकर कुछ समस्या हो सकती है । हित शत्रु के साथ विरोधियों से परेशानी आएगी और किसी विवाद को लेकर भी आप परेशान रहेंगे । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245, एम. जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार, एम. पी.
                  मो. नं.  9425491351

                 *--:  शुभम्  भवतु  :--*


Post A Comment:

0 comments: