*झाबुआ~जिले के इन स्थानों पर बिक रही नकली ताड़ी*~~

*कहा से आती है नकली ताड़ी बनाने का सामान*~~

*दुसरे राज्यों से लोग आकर बेच रहे हैं यहाँ खुलेआम नकली ताड़ी*~~  

*आखिर क्यों जिम्मेदार मोन क्यो नही हो रही इन लोगो पर कारवाही*~~

झाबुआ जिला ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा...9685952025~~

झाबुआ - जिले  में आबकारी विभाग और पुलिस विभाग के रहमों कर्मो पर  जिले के थान्दला, पेटलावद ब्लाक में दर्जनों जगहों पर ताड़ी के नाम पर मिलावटी ताड़ी खुलेआम बेची जा रही है।कोई भी जिम्मेदार इस कारोबार पर अंकुश लगाने वाला सामने नहीं दिखाई दे रहा है। जिससे इनके हौसले बुलंद होते देखे जा रहे हैं और जिले भर के नौजवानों के स्वास्थ्य के साथ खुलेआम  खिलवाड़ किया जा रहा है। किसी भी समय कोई बड़ी घटना घट सकती है। झाबुआ जिले के थान्दला ,पेटलावद ,काकनवानी ,मदरानी एवं परवलिया सहित आस पास के क्षेत्रो में आधा दर्जन से अधिक जगहों पर दुसरे राज्य तेलगाना और आधप्रदेश से   आये लोगो द्वारा नकली ताड़ी  का कारोबार अवैध रूप से किया जा रहा है। इन लोगो के पहचान पत्र भी नही देखा गया हैं । इन लोगो द्वारा नकली ताड़ी को बनाने के लिए निम्बू फुल, सेकरीन, क्लोरोफार्म नामक जहरीला पावडर,शक्कर ,नशीली गोलिया  मिलाकर  नकली ताड़ी  तैयार कि जाती  है। जिसको  बाद 30 रुपये से लेकर 50 रुपये प्रति लोटा बेची जाती है । जबकि इन  इलाको में दूर दूर तक ताड़ के पेड़ नहीं है जिन से ताड़ी निकलती हैं । सबसे बड़ी बात यह है की इनके लोगो द्वारा यह पाउडर भी महाराष्ट्र के पुणे से खरीदकर लाया जाता है ,जिसका उपयोग नकली ताड़ी बनाने में किया जाता है तथा यह पाउडर समीप राज्य राजस्थान तक इन लोगो द्वारा सप्लाई भी किया जाता है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि इस समय क्षेत्र के नौजवान भी इस मिलावटी ताड़ी के पीने के शौकीन होते देखे जा रहे हैं सूत्रों की मानें तो इस कारोबार में आबकारी विभाग के भी जिम्मेदार अधिकारी संलिप्त होते देखे जा रहे हैं जिसके चलते इन  नकली ताडी  बेचने वालो  के हौसले बुलंद होते देखे जा रहे हैं। समय रहते अगर कार्यवाही न की गई तो किसी भी समय कोई बड़ी घटना घट सकती है ताड़ी पीने के शौकीनों ने बताया कि इस समय इस ताडी को पीने से सिर में दर्द होने लगता है और नींद अधिक लगती है। साथ ही थकान महसूस होती है साथ ही इस ताड़ी को अगर न पिए तो हाथ पैर काम नहीं करते जब तक इस ताड़ी को पी न ले चेन नहीं पड़ता है  सूत्रों की बात करे तो आबकारी  विभाग  सहित पुलिस विभाग को भी इसकी जानकारी है  मिलावटी ताड़ी की जानकारी होने के बाद भी मौके पर जाने की फुर्सत ही नहीं है अब देखना है की जिले के नवागत पुलिस कप्तान आशुतोष गुप्ता  दुसरे राज्यों से आये इन नकली ताड़ी बनाकर बेचने वालो पर क्या कार्यवाही  करते है मगर आबकारी विभाग इस मामले में पल्लू झाड़ता नजर आया और शिकायत मिलने पर कार्यवाही करने की बात कह डाली जबकि इस मामले से दोनों विभाग अनभिग्य नहीं है


इनका कहना है - पुलिस द्वारा ऐसे लोगो पर कार्यवाही की जाएगी साथ ही यह कार्य आबकारी विभाग का है वह इन ताड़ीयो के सेम्पल ले पुलिस द्वारा प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की जाएगी - एसडीओपी ,एम एस गवली ,थान्दला



यह पुलिस का काम है की अन्य राज्यों के लोग किस बेस पर रह रहे है  यह पुलिस विभाग का का कार्य है। ताड़ी की केसे बनाते है यह जाच का विषय है फ़िलहाल इस मामले को में दिखवाता हु और अगर शिकायत मिलती है तो कार्यवाही की जाएगी  - विकास वर्मा आबकारी अधिकारी थांदला


Post A Comment:

0 comments: