*पलसुद~टैप्ड इन कॉटन परियोजना के ग्रामीण युवा जुड रहे है स्वरोजगार सें*~~

पलसुद:- ग्राम पंचायत भुराकॅुआ के युवा अम्बाराम पिता सीताराम को निवसीड संस्था बड़वानी और सेव द चिल्ड्रन संस्था के द्वारा संचालित की जा रही परियोजना टैप्ड इन कॉटन के तहत स्वरोजगार के लिये संसाधन उपलब्ध करवाये गये जिससे कि अब अम्बाराम को अपने ही ग्राम मे रोजगार मिलने लगा और वह स्वरोजगार से जुड गया अम्बाराम अपने ग्राम मे ही फोटोकॉपी सेंटर संचालित करता है साथ ही वह ऑनलाईन जैसें जन-धन योजना, बैकिग संबंधी लेन-देन कार्य, जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र , सम्रग आई डी आदि कार्य करता है जिससे कि उसे ही रोजगार नही मिला बल्कि ग्रामीणो को भी अपने ही ग्राम मे सुविधाऐं मिलने लगी । ग्राम भुराकॅुआ के ग्रामीण बयाराम ने बताया कि इससे पूर्व हमें फोटोकॉपी और अपने ऑनलाईन कार्याे के लिये अपने आस-पास के गॉवो मे दूर-दराज अपना काम छोडकर जाना पड़ता था परन्तु हमें यह सुविधाए अब यहीं गॉव मे मिलने लगी है जिससे कि हमारे समय और पैसे दोनो की काफी बचत होती है संस्था द्वारा किये जा रहा कार्य काफी सरहानीय है । निवसिड संस्था  संस्था के परियोजना समन्वयक मनीष गुप्ता ने बताया की हमारी परियोजना का उद्देश्य है कि बच्चे बालश्रम से मुक्त होकर शिक्षा से जुडें एवं युवासाथीे अपने-अपने कौशल के अनुरूप कार्य करें जिससे की उनकी आमदमी बढेगी और उनका जीवन-यापन भी बेहतर तरीके से हो पायेंगा साथ ही ग्रामीणो को भी ग्राम स्तर पर सुविधाओ का लाभ मिलेगा । सेंव द चिल्ड्रन संस्था के परियोजना समन्वयक श्री दीपेन्द्र तोमर ने बताया की संस्था का मुख्य लक्ष्य है की सम्पुर्ण बड़वानी जिला बालश्रम मुक्त हो व बच्चे शिक्षा की मुख्यधारा से जुडे व बच्चो को उनके अधिकार प्राप्त हो साथ ही समुदाय मे भी बच्चो के अधिकारो के प्रति जागरूकता के वातावरण का निर्माण हो जिससे की आगामी भविष्य मे भी बच्चे बालश्रम मे संलिप्त न हों । इस दौरान संस्था के सामुदायिक संगठक कमल बर्डे सहित ग्राम के ग्रामीण उपस्थित थें ।
*पलसुद से संवाददाता उमर फारूक शैख़ की रिपोर्ट*


Post A Comment:

0 comments: