सिहोर~मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री की विधानसभा क्षेत्र नसरुल्लागंज में मासूम बच्चों से करवाया जा रहा है दारू लाने ले जाने का काम जिनकी उम्र से बढ़ने की वे कर रहे हैं यह काम~~

नसरुल्लागंज से जिला ब्यूरो आनन्द अग्रवाल की रिपोर्ट~~

मुख्यमंत्री की विधानसभा क्षेत्र नसरुल्लागंज में मासूम बच्चे आपको दोनों दारु की दुकान के आसपास देख जायेंगे जोकि आम जनता के लिए दारु लाने का काम करते हैं अभी जिनकी उम्र पढ़ने लिखने की है वे सभी बच्चे इस गोरखधंधे में उधर गए हैं इन बच्चों को दारु लाने के बदले 5 से ₹10 मिलते हैं इसकी जानकारी प्रशासन के कुछ अधिकारी को भी है लेकिन इसके बाद भी प्रशासन का कोई भी अधिकारी इन बच्चों को रोकने की या घर जाने की सलाह नहीं देता है कई बार तो प्रशासन के अधिकारी  ही इन बच्चों से दारू बुला लेते हैं क्योंकि यह सभी बच्चे बस स्टैंड पर आपको  पान की दुकान के आस पास नजर आ जाएंगे एवं दूसरी दारू दुकान पर मेन रोड पर यह  बच्चे आपको घूमते हुए नजर आ जाएंगे अगर शासन में इन बच्चों के ऊपर ध्यान नहीं दिया या इनको नहीं रोका  तो आने वाले समय में यह बच्चे कुछ भी बड़ा क्राइम करने में पीछे नहीं हटेंगे इसका नुकसान आम जनता को भुगतना पड़ेगा


Post A Comment:

0 comments: