बाकानेर~उस्मान भाई को क्यों अकेला छोड़ दिया कांग्रेस ने*~~
                             
बाकानेर से सैयद रिजवान अली~~

ताज़िया जुलूस को लेकर पुलिस ने जो रासुका की कार्रवाई की है वो अपनी जगह है लेकिन सवाल कांग्रेस से है कि जहां एक और कांग्रेस से बीजेपी में गए ज्योति सिंधिया के तमाम समर्थकों को बीजेपी सिरमाथे लिए घूम रही है, वही हर छोटे-मोटे मामले में डीआईजी सहित आला अफसरों को घेर लेने वाले कांग्रेसी रासुका लगने पर उस्मान पटेल को अकेला छोड़ रहे हैं।  जो लोग खजराना और जुलूस को समझते हैं उन्हें पता है कि उस्मान पटेल सहित वे तमाम लोग निर्दोष हैं, उन्हें राजनीति का शिकार बनाया जा रहा है। प्रशासन की कार्रवाई जांच-पड़ताल के बाद होना थी, लेकिन सोचना  शहर कांग्रेस को  चाहिए कि वो अपने  दमदार नेता को यूं अकेला छोड़कर कार्यकर्ताओ विशेषकर अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओ को क्या मेसेज दे रही है। दरअसल हम और आप अपनी जिंदगी का सफर आंख बंद करके तय कर रहे हैं अगर हम आंखें खोल कर देखें तो हमें कई लोग पैसे मिल जाएंगे जिन्हें छोटे-छोटे कामों में छोटी छोटी जरूरत होती आज ऐसी जरूरत मध्य प्रदेश के मुसलमानों को है जिनके खिलाफ मोहर्रम के बाद पुलिस कार्रवाई होकर  प्रकरण    पंजीबद्ध है भारत का हर मुसलमान और हर नागरिक जिसमे इंसानियत बाकी है आवाज़ उठाएं


Post A Comment:

0 comments: