।।  *सुप्रभातम्*  ।।
                ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 13 नवंबर 2020 शुक्रवार संवत् 2077 मास कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि दोपहर 03:46 बजे तक रहेगी पश्चात् चतुर्दशी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातःकाल 06:46 बजे एवं सूर्यास्त सायं 05:35 बजे होगा । चित्रा नक्षत्र रात्रि 11:04 बजे तक रहेगा पश्चात् स्वाति नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा कन्या राशि मे दोपहर 12:32 बजे तक भ्रमण करते हुए तुला राशि मे प्रवेश करेंगे । आज का राहुकाल प्रातः 11:44 से 12:07 बजे तक रहेगा । अभिजीत मुहूर्त प्रातः 11:45 से 12:07 बजे तक रहेगा । दिशाशूल पश्चिम दिशा मे रहेगा यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा आरंभ करे ।।  जय  हो  ।।

                *--:  विशेष  :--*

अनेक लोग आज धन त्रयोदशी मनायेंगे , नरक चतुर्दशी निमित्त दीपदान , धनवंतरी जयंती , मास शिवरात्रि रुप चतुर्दशी निमित्त अगले दिन सूर्योदय पूर्व प्रातःकाल अभ्यंग स्नान व दीपदान ।।  जय  हो  ।।

                  *रूप चतुर्दशी पर्व*
          कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को रूप चतुर्दशी आती है । इस दिन सौंदर्य रूप श्रीकृष्ण की पूजा करनी चाहिए । इस दिन व्रत भी रखा जाता है । ऐसा करने से भगवान सुंदरता देते हैं । इस दिन को नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है । यह त्यौहार नरक चौदस या नर्क चतुर्दशी या नर्का पूजा के नाम से भी प्रसिद्ध है । मान्यता है कि कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन प्रातःकाल तेल लगाकर अपामार्ग (चिचड़ी) की पत्तियाँ जल में डालकर स्नान करने से नरक से मुक्ति मिलती है । विधि - विधान से पूजा करने वाले व्यक्ति सभी पापों से मुक्त हो स्वर्ग को प्राप्त करते हैं । शाम को दीपदान की प्रथा है जिसे यमराज के लिए किया जाता है । दीपावली को एक दिन का पर्व कहना न्योचित नहीं होगा । इस पर्व का जो महत्व और महात्मय है उस दृष्टि से भी यह काफी महत्वपूर्ण पर्व व हिन्दुओं का त्यौहार है। यह पांच पर्वों की श्रृंखला के मध्य में रहने वाला त्यौहार है जैसे मंत्री समुदाय के बीच राजा ।
इसी दिन कृष्ण ने एक दैत्य नरकासुर का संहार किया था । सूर्योदय से पूर्व उठकर, स्नानादि से निपट कर यमराज का तर्पण करके तीन अंजलि जल अर्पित करने का विधान है । संध्या के समय दीपक जलाए जाते हैं । मान्‍यताओं के अनुसार , नरकासुर एक अधर्मी राजा था जिसने कई राजाओं , ब्राह्मणों और कन्‍याओं को बंदी बनाया हुआ था। उसके अधर्मी कृत्‍यों से देवता भी परेशान थे । लेकिन उसे वरदान था की उसकी मृत्‍यु उसी के हाथ होगी जो उस समय अपनी पत्‍नी के साथ होगा । इस पर देवताओं के आह्वान पर श्रीकृष्‍ण ने इस असुर का नाश करने का फैसला किया । श्री कृष्ण ने अपनी पत्नी सत्यभामा को अपना सारथी बनाकर नरकासुर का वध किया । वध के बाद नरकासुर का शव जमीन में चला जाता है जिस पर भू माता प्रकट होकर श्री कृष्ण को नरकासुर पूरी कथा बताती हैं ।

            *रूप चतुर्दशी कथा*
रूप चतुर्दशी की कथा के अनुसार एक समय भारत वर्ष में हिरण्यगर्भ नामक नगर में एक योगिराज रहते थे । उन्होंने अपने मन को एकाग्र करके भगवान में लीन होना चाहा । अत: उन्होंने समाधि लगा ली । समाधि लगाए कुछ ही दिन ‍बीते थे कि उनके शरीर में कीड़े पड़ गए । बालों में भी छोटे - छोटे कीड़े लग गए । आंखों की रोओं और भौंहों पर जुएं जम गईं । ऐसी दशा के कारण योगीराज बहुत दुखी रहने लगे । इतने में ही वहां नारदजी घूमते हुए वीणा और करताल बजाते हुए आ गए । तब योगीराज बोले - हे भगवान मैं भगवान के चिंतन में लीन होना चाहता था , परंतु मेरी यह दशा क्यों गई ?
          तब नारदजी बोले - हे योगीराज ! तुम चिंतन करना जानते हो , परंतु देह आचार का पालन नहीं जानते हो। इसलिए तुम्हारी यह दशा हुई है । तब योगीराज ने नारदजी से देह आचार के विषय में पूछा । इस पर नारदजी बोले- देह आचार से अब तुम्हें कोई लाभ नहीं है । पहले जो मैं तुम्हें बताता हूं उसे करना । फिर देह आचार के बारे में बताऊंगा ।
          थोड़ा रुककर नारदजी ने कहा - इस बार जब कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी आए तो तुम उस दिन व्रत रखकर भगवान की पूजा ध्यान से करना । ऐसा करने से तुम्हारा शरीर पहले जैसा ही स्वस्थ और रूपवान हो जाएगा ।
योगीराज ने ऐसा ही किया और उनका शरीर पहले जैसा हो गया । उसी दिन से इसको रूप चतुर्दशी भी कहते हैं ।।  जय  हो  ।।

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
          श्रीमंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245 , एम. जी. रोड ( आनंद चौपाटी ) धार , एम. पी.
                  मो. नं.  9425491351

                    *आज का राशिफल*

          मेष :~ आपको शारीरिक और मानसिक स्फूर्ति रहेगी । घर का वातावरण आनंददायी रहेगा । आर्थिक लाभ के साथ - साथ व्यवसाय में संतोष रहेगा । सामाजिक प्रतिष्ठा में वृध्धि होगी । मित्रों , स्नेहीजनों के साथ आनंदप्रमोद पूर्वक प्रवास - पर्यटन का तथा वस्त्राभूषणों का अवसर प्राप्त होगा ।

          वृषभ :~ आज आकस्मिक खर्च हो सकता है । विद्यार्थियों पढने - लिखने में विघ्न आएगा । मन कुछ उध्विग्न रहेगा , परंतु मध्याहन के बाद घर में सुख - शांति रहेगा । आरोग्य में सुधार होगा । कार्य सफलता से यश बढेगा । व्यवसाय में सहकार्यकरो का सहयोग अच्छा मिलेगा । प्रतिस्पर्धियों पर विजय मिलेगी ।

          मिथुन :~ आज आप जमीन , मकान आदि पत्रो या दस्तावेजों के विषय में सावधान रहे । परिवार मे बिना कारण तनाव बढेगा । संतान की चिंता रहेगी । विद्या , अभ्यास में  बाधा आएगी । आकस्मिक खर्च की संभावना है । मित्रों की भेंट से मन प्रसन्न रहेगा।

          कर्क :~ आज आध्यात्मिक और गूढ़ विद्याओं में सिद्धि प्राप्त करने के लिए अच्छा है । शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य आपको आनंद दैगा । आज आप कुछ अधिक ही संवेदनशील रहेंगे । मध्याहन के बाद उपाधियों के कारण आप चिंतित रहेंगे । स्फूर्ति और प्रफुल्लितता का अभाव रहेगा । परिवार मे मतभेद रहेगा । खर्च होगा ।

          सिंह :~ आज आप मधुरवाणी से किसी कार्य को पूर्ण करेंगे । परिवार मे आनंदपूर्वक समय बिताएंगे । परंतु मध्याहन के बाद भी कोई भी बिना सोचे समझे निर्णय न ले । अपनों से लाभ होगा । मित्रों - स्वजनों से भेंट होगी । प्रतिस्पर्धियों का सामना कर सकेंगे ।

          कन्या :~ आज आपका दिन शुभफलदायी है । अपनी वाणी के प्रभाव से आप लाभदायी और प्रेमभरे सम्बंध बनायेंगे । आपकी वैचारिकता अन्य जनों को प्रभावित करेंगे । व्यावसाय मे आज लाभ होगा । मन प्रसन्न रहेगा । आर्थिक लाभ होगा । बौद्धिक चर्चा में विवाद को टालकर चर्चा का आनंद लूटे ।

          तुला :~ आकस्मिक खर्च मे सावधानी बरते । शारीरिक और मानसिक अस्वस्थता से मित्रों से उग्र चर्चा या झगडा़ न हो इसका ध्यान रखे । कोर्ट - कचहरी की कार्यवाही से संभलकर चले । मध्याहन के बाद स्थिति में सुधार होगा । मानसिक स्वस्थता के साथ साथ वाणी की मधुरता से अन्य जनों के साथ आनंद की प्राप्ति होगी ।

          वृश्चिक :~ आप को अनेक क्षेत्रों में लाभ और यश - कीर्ति प्राप्त होगी । धन की प्राप्ति होगी । मित्रों के पीछे खर्च होगा । परंतु साथ - साथ उन के साथ साथ घूमने जा सकते है । परंतु मध्याहन के बाद शारीरिक और मानसिक अस्वस्थता होगी । किसी के साथ अहम् की टक्कर न हो ध्यान रखे। क्रोध रहेगा ।

          धनु :~ आज आपका दिन लाभकारी होगा । व्यवसाय का क्षेत्र में आनंदप्रद वातावरण रहेगा । शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा । व्यवसाय में लाभ होगा । सरकारी कार्यों में लाभ मिलेगा । अनेक क्षेत्रों में यश - कीर्ति होगी । आप की आय और व्यापार , दोनों में वृद्धि होगी ।

          मकर :~ आजका दिन शुभ फलदायी है । विदेश - स्थित सम्बंधीजनों के समाचार से मन प्रसन्न रहेगा । धार्मिक यात्रा हो सकती है । कार्य - योजना पूर्ण होगी । व्यवसाय से लाभ होगा ।

          कुंभ :~ ग, आजका पुरा दिन शुभफलदायी होगा । क्रोध और वाणी पर संयम रखे । परिवारजनों के वाद - विवाद में न पडे । मध्याहन के बाद स्वजनों तथा मित्रों के साथ आप का समय बहुत आनंदपूर्वक बीतेगा । धार्मिक प्रवास होगा। विदेश से समाचार मिलेंगे ।

          मीन :~ आजका दिन दैनिक कार्यो में आपको शांति प्रदान करेगा । किसी मनोरंजक स्थल पर मित्रों या परिचितों के साथ आनंद मना सकेंगे । व्यापार में भागीदारों के साथ व्यवहार अच्छा रहेगा , परंतु मध्याहन के बाद स्वास्थ्य बिगडेगा । परिवार मे मतभेद से मनदुःखी रहेगा । वाणी पर संयम रखे । अधिक व्यय होगा । जल से दूर रहे । ( डाँ. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  गुरुदेव  ।।


Post A Comment:

0 comments: