दसई~~ महिलाओं के लिए करवाचौथ एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्रत है~~

जगदीश चौधरी खिलेडी 6261395702~~

दसई~~ महिलाओं के लिए करवाचौथ एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्रत है सारे देश की तरह खिलेडी में भी महिलाओं ने दिनभर निराहार और निर्जल रहकर अपने सुहाग के लिए मंगल कामनाएं करते हुए चंद्र उदय होने के समय को देव आराधना में व्यस्त रखा चांद निकलते ही महिलाओं ने पूजा की प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी के शुभ अवसर पर प्रदेश सहित देश के अधिकांश इलाकों में सुहागिनों ने सुहाग की आयु बढ़ाने का पर्व करवाचौथ निर्जला रखकर किया गया।

पौराणिक काल में माता पार्वती ने शिव के प्रति समर्पण भावना को प्रदर्शित करने के लिए उक्त पर्व को निर्जला रहकर किया था।  एक अन्य मान्यता के अनुसार द्वापर युग में देवी द्रोपती ने पांच पांडवों को महाभारत के युद्ध में कौरवों से विजय प्राप्त करने के लिए कठोर तप कर इस व्रत को किया था। वहीं साथ-साथ खुशहाल जिंदगी जीना भी इस पर्व की मूल भावना को परिलक्षित करता है। मंगलवार को करवाचौथ की तैयारियां महिलाओं द्वारा जोर शोर से की गई।

इस दौरान दिनभर पूजा पाठ सहित शाम को शिव पार्वती एवं गणेश का विधि विधान से पूजन महिलाओं द्वारा किया गया। रात को चंद्र दर्शन के उपरांत ही महिलाएं अपने पति के हाथों पानी पीकर व्रत तोड़कर परिवार के बड़े परिजनों से आशीर्वाद लिया।


Share To:

Post A Comment: