झाबुआ~नए साल में बदलाव, यूपीआई पेमेंट पर लगेगा चार्ज~~





झाबुआ। संजय जैन~~

एक जनवरी 2021 अगले महीने से देश में आठ बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इन बदलावों का जिंदगी पर सीधा असर पड़ेगा। इन नए नियमों से एक ओर जहां राहत मिलेगी,वहीं यदि  कुछ बातों का ध्यान नहीं रखा तो  आर्थिक नुकसान भी हो
सकता है।

उठाना पड़ सकता है नुकसान .....
इनमें फास्टैग,जीएसटी, गैस सिलिंडर,चेक पेमेंट,कॉलिंग, व्हाट्सएप, गाडिय़ों की कीमत आदि शामिल हैं। 3 दिन बाद नए वर्ष का आगमन होने वाला है, जिसकी तैयारी में लोग लगे हुए हैं। 2020 के समापन के बाद एक जनवरी 2021 से कई नियम बदल रहे हैं,जिनका असर जीवन पर सीधे तौर पर पड़ेगा। चेक पेमेंट से लेकर फास्टैग,यूपीआई पेमेंट सिस्टम और जीएसटी रिटर्न के नियमों में बदलाव अगले साल के पहले महीने से जनवरी से लागू हो जाएंगे। इन सभी बदलावों के बारे में जान ल, वर्ना नुकसान उठाना पड़ सकता है।

जीएसटी रिटर्न के नियम......
देश के छोटे कारोबारियों को सरल, त्रैमासिक गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स रिटर्न फाइलिंग में सुविधा प्रदान की जाएगी। नए नियम की मानें तो जिन कारोबारियों का टर्नओवर 5 करोड़ रुपए से कम है,उन्हें हर महीने रिटर्न दाखिल में माथा पच्ची नहीं करनी होगी। नया नियम में टैक्सपेयर्स को
केवल 8 रिटर्न भरने की जरूरत होगी। इनमें 4 जीएसटीआर 3 बी और 4 जीएसटीआर 1 रिटर्न भरना होगा।

कॉन्टैक्टलेस ट्रांजेक्शन.....
भारतीय रिजर्व बैंक ने कॉन्टेक्टलेस कार्ड पेमेंट्स की लिमिट 2,000 से बढ़ाकर 5,000 रुपए करने का काम किया है। एक जनवरी 2021 से यह प्रभाव में आ जाएगा। डेबिट और क्रेडिट कार्ड से 5,000 रुपए तक के पेमेंट्स के लिए पिन यूज करने की जरूरत नहीं होगी। ऑटोमोबाइल कंपनियां जनवरी 2021 से अपने कई मॉडल के दाम बढ़ाने जा रही हैं। इसका असर आम आदमी पर पड़ेगा।

चेक पेमेंट सिस्टम में बदलाव....
1 जनवरी 2021 से चेक पेमेंट से जुड़े नियम में बदलाव किया जा रहा है। सकारात्मक भुगतान व्यवस्था के तहत चेक के माध्यम से 50,000 रुपए या इससे ज्यादा पेमेंट पर कुछ जरूरी जानकारियों को दोबारा कन्फर्म करने की आवश्यकता होगी। यह अकाउंट होल्डर पर निर्भर करेगा कि वो इस सुविधा का लाभ लेता है या नहीं। चेक जारी करने वाला व्यक्ति यह जानकारी एसएमएस,मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से देने का काम कर सकता है।




Post A Comment:

0 comments: