झाबुआ~छात्रों के भविष्य पर पीईबी का ब्रेक-चौथी बार टली प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा, करीबन 1200 छात्र-छात्राएं हुए ओवरएज ,हजारो की तैयारी पर फिरा पानी~~

छात्र बोले-2017 से कर रहे कोचिंग,20 हजार तक खर्च किए, सरकार कर रही खिलवाड़~~



झाबुआ। संजय जैन~~

शिक्षक बनकर सुखद भविष्य की संभावना तलाश में प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा-संविदा शिक्षक वर्ग-3 की तैयारियों में जुटे जिले के  हजारो छात्र परेशान हैं। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड -पीईबीद्ध ने पात्रता परीक्षा फिर टाल दी है। ऐसा चौथी बार हुआ है। ऐसे में करीबन 1200े  छात्र-छात्राएं तो ओवरएज हो गए। जो एग्जाम तो दे सकेंगे लेकिन अगली बार फॉर्म भरने के लिए पात्र नहीं होंगे। वहीं कई ऐसे प्रतिभागी थे जिन्होंने अपनी प्राइवेट जॉब छोड़कर कर्जा लिया और 10 से 20 हजार रुपए फीस कोचिंग सेंटर पर जमा कर तैयारी की। उनके हाथ से प्राइवेट जॉब भी गई और परीक्षा में किस्मत भी नहीं आजमा सके।






मोटी फीस देकर तैयारी की....
शहर मुख्यालय पर संचालित कोचिंग सेंटर पर प्रतिभागी वर्ष 2017 से परीक्षा की तैयारी में जुटे हुए हैं। प्रतिभागियों ने कोचिंग सेंटर पर प्राथमिक परीक्षा क्वालिफाई करने के लिए मोटी फीस देकर तैयारी की। सिलेबस पूरा होने के बाद इसे रिवाइज भी कर लिया गया। तीसरी बार जब परीक्षा की तिथि जारी की गई तो दोबारा कोचिंग सेंटर पर इन्हीं छात्रों ने 50 प्रतिशत फीस भरकर तैयारी की लेकिन अब परीक्षा फिर टाल दी गई।






रिवीजन के नाम पर 50 प्रतिशत फीस जमा की लेकिन दो साल परीक्षा न होने से सब तैयारी बेकार हो गई.....






*****पीईबी ने कब-कब टाले एग्जाम
-2011 में आखिरी बार संविदा शिक्षक वर्ग 3 की परीक्षा आयोजित कराई थी।
-पीईबी ने 6 जनवरी 2019 को पात्रता परीक्षा के फॉर्म भरवाए थे।
-2017 से जगह स्वीकृत करना शुरू किया।
-अप्रैल 2020 को पहली परीक्षा तिथि घोषित की गई।
-अगस्त-सितंबर 2020 में दूसरी बार तारीख घोषित की गई।
-2 जनवरी 2021 को तीसरी बार परीक्षा स्थगित कर दी गई।






छात्रों के भविष्य से खेल रही सरकार
छात्रों ने हजारों रुपए खर्च कर वर्ग-3 की तैयारी की लेकिन पीईबी एग्जाम कंडक्ट नहीं करवा पा रही। यह छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। व्यापमं को खत्म करके पीईबी बनाया गया था लेकिन इनका मैनेजमेंट तो और भी लचर निकला। 






करीबन 1200 छात्र-छात्राएं ओवरएज,नहीं भरेंगे फॉर्म
2017 से संविदा शिक्षक वर्ग तीन की पात्रता परीक्षा की तैयारी में जुटे करीबन 1200 छात्र-छात्राएं  ऐसे हैं,जो निर्धारित आयु सीमा पूरी कर चुके हैं। चूंकि पात्रता परीक्षा के लिए पंजीयन करा चुके हैं तो वे परीक्षा में शामिल तो हो सकेंगे लेकिन क्वालिफाई होने के बाद भी रिक्त पदों के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे।




Share To:

Post A Comment: