*महू~ गौशाला में होगा गौमाताओं के लिए आज विशेष अन्नकूट*~~

महू शहर की तेली खेड़ा स्थित 110 वर्षीय पुरानी श्री राधाकृष्ण गौशाला का जीर्णोद्धार हुआ है । जिससे गौशाला स्वरूप निखर आया है । नगर व आसपास के लोग परिवार सहित पिकनिक व अन्य आयोजन के लिए तथा धार्मिक व सामाजिक संगठन अपने कार्यक्रमों के लिए गौशाला में आने लगे हैं। समय-समय पर लोग संत समागम एवं गौ सेवा में बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं । गौशाला परिसर में ही राधाकृष्ण भगवान का सुंदर मंदिर है। इसके साथ ही सप्तपदी मंदिर का निर्माण भी किया जा रहा है, जो सात प्रकार की गौ माताओं की पूजा अर्चना से संबंधित है। गौशाला परिसर के बाहर गंभीर नदी के किनारे श्री बालाजी के पुराने मंदिर को नया स्वरूप भी दिया जा रहा है । गौशाला परिसर में डेढ़ सौ लोगों के बैठने की व्यवस्था है। श्री राधाकृष्ण गौशाला के *अध्यक्ष राधेश्याम यादव एवं मंत्री ओम प्रकाश माहेश्वरी* ने बताया कि 250 करोड़ों रुपए के जन सहयोग से गोशाला परिसर व्यवस्थित कर सुंदरीकरण किया गया है। साथ ही गौशाला परिसर के बाहर 24 नए सर्व सुविधा युक्त कमरे बनाए गए हैं । आगे जानकारी देते हुए बताया कि गौ माता के लिए एक अन्नकूट का आयोजन 28 जनवरी को गौशाला परिसर में किया जा रहा है । जिसमें गौ माताओं को भोजन प्रसादी के रूप में गुड़ की जलेबी पुड़ी एवं नमकीन समोसा आदि खिलाया जाएगा । आगंतुक गोभक्त गौशाला में आकर स्वयं अपने हाथों से यह भोजन प्रसादी गौ माता को खिलाएंगे। यह अनूठा आयोजन गौशाला में द्वितीय बार किया जा रहा है। इसके पीछे तर्क यह है कि अभी तक जो अन्नकूट होते हैं उनमें हम लोग भोजन करते हैं। यह दूसरा आयोजन होगा जिसमें गौ माता अन्नकूट का प्रसाद ग्रहण करेंगी । गौशाला में गौ माताओं को ठंड से बचाने के लिए पूरी व्यवस्था की गई है। पूरी गोशाला परिसर में गौ माताओं के शेड को बड़े-बड़े त्रिपाल के पर्दे बनाकर रात में ढक दिया जाता है एवं शेड के अंदर बड़े-बड़े हैलोजन जलाकर गर्मी की व्यवस्था की जाती है। इस अन्नकूट के आयोजन में शहर के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य *पंडित कपिल शर्मा* का विशेष योगदान है उनके अनुसार गौ माता की सेवा करने से प्राणी के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। उक्त जानकारी ओम प्रकाश माहेश्वरी द्वारा दी गई।


Post A Comment:

0 comments: