झाबुआ~कोरोना का कहर.......
मार्च के 28 दिन में आए 70 से अधिक मरीज.......क्योंकि मास्क लगाने,सोशल डिस्टेंस पर नहीं ध्यान~~

कर पा रहा प्रशासन भी जागरूकता के नाम पर महज रस्म अदायगी ही -रहना होगा कोरोना महामारी के गंभीर परिणामो को भुगतने के लिए तैयार......


झाबुआ। संजय जैन~~

पिछले साल कोरोना महामारी के बाद बीच में कुछ महीने राहतभरे गुजरे पर अब फिर से नए संक्रमित मिलने का आंकड़ा बढऩे लगा है। कोरोना की दूसरी लहर के बीच जिले में पिछले एक सप्ताह में 40 नए मरीज सामने आए हैं। वहीं पूरे मार्च माह के 28 दिनों में 70 से अधिक मरीज नए कोरोना के संक्रमित मिले हैं।





 
प्रशासन भी जागरूकता के नाम पर महज रस्म अदायगी ही कर पा रहा ....
बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले में धारा 144 लगाई है। इसके साथ ही मास्क भी अनिवार्य किया है। इसके बावजूद मास्क लगाने का यह आदेश कागजों तक ही सीमित रह गया है। बाजार में रोजाना की तरह भगोरिया हाट में भीड़ लगी रहती है,जहां ना तो सामाजिक दूरी का पालन  किया जा रहा है और ना ही मास्क का उपयोग किया जा रहा है। सार्वजनिक कार्यक्रम व त्योहार पर प्रतिबंध तो लगाया है पर  प्रशासन भी जागरूकता के नाम पर महज रस्म अदायगी ही कर पा रहा है। जरूरत पड़ी तो और भी सख्ती बरतना होगी।






भगोरिया हाट बाजार में बढ़ी जत्थेबंध भीड़....
इस समय जिले में भगोरिया पर्व बेखौफ  मनाया जा रहा है,जिस पर प्रसाशन का कोई ध्यान ही नहीं है । जबकि लोग जत्थेबंध बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस की धजिय्या उड़ाते हुए आये दिन हर भगोरिया हाट में देखे भी जा रहे है व फसल कटाई का सीजन भी चल रहा है। वहीं शादियों का सीजन भी आने वाला है। ऐसे में भगोरिया हाट बाजार में लोगों की भीड़ बढऩे लगी है। उपज बेचकर लोग यहां खरीददारी करने पहुंच रहे हैं। ऐसे में ना तो दुकानों पर सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है और ना ही बाजार में दिख रहा है।






खतरा बरकरार......रोजाना औसतन 4 मरीज मिल रहे-सबसे कम उम्र 9 साल के एक बच्चे की मौत भी.....
जिले में कोरोना की दूसरी लहर के बीच मार्च के 28 दिन में 70 से अधिक नए कोरोना के मरीज सामने आए है। यानि औसतन पांच मरीज नए सामने आ रहे है। पिछले एक सप्ताह में 40 नए मरीज आए है। इस माह कोरोना से 4 की मौत हुई है। जिसमे से 1 मौत सबसे कम उम्र का 9 साल का एक बच्चा भी शामिल है,जो अब तक कोरोना से हुई मौतों में सबसे कम उम्र का है।






रहना होगा कोरोना महामारी के गंभीर परिणामो को भुगतने के लिए तैयार......
जिले में रोज एक नया कोरोना बम फट रहा है। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि अभी के दिनों में प्रसाशन ने सख्त कारवाई नहीं कि तो जिले को इस कोरोना महामारी के गंभीर परिणामो को भुगतने के लिए तैयार रहना होगा। गौरतलब है कि अभी हाल ही में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन ने 27 मार्च को रानापुर तथा रामा में आयोजित होने वाले जनपद स्तरीय रोजगार मेलों के सफल आयोजन के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को जिम्मेदारियां भी सौंपी थी।




Share To:

Post A Comment: