झाबुआ~कोरोना संक्रमण की तरह बढ़ी महंगाई,जेब पर लॉकडाउन-जरूरतें क्वारेंटाइन~~

एक साल में पेट्रोल 21.3 और डीजल 20.94 रुपए महंगा हुआ-फरवरी में चार बार दाम उछला घरेलू गैस सिलेंडर का~~


झाबुआ। संजय जैन~~

कोरोना संक्रमण का एक साल सभी के लिए भयावह रहा लेकिन इस बुरे दौर में संक्रमण के साथ महंगाई भी बढ़ती गई। ऐसे में आमजन की जेब पर मानो लॉकडाउन लगा और जरूरतें क्वारेंटाइन होती गई। रसोई गैस सिलेंडर,पेट्रोल-डीजलए किराना सामान से लेकर वाहन किराए ने भी आमजन की कमर तोड़ी। लॉकडाउन के दौरान हजारों लोगों का रोजगार छीना। परिवार की रोजी-रोटी मुश्किल हो गई लेकिन महंगाई बढ़ती गई। 






एक साल में पेट्रोल 21.3 और डीजल 20.94 रुपए महंगा हुआ....फरवरी में चार बार दाम उछला घरेलू गैस सिलेंडर के......
पिछले वित्तीय वर्ष में इतिहास में पहली बार पेट्रोल के दाम ने सैकड़ा पार किया। 40 दिन से दाम 100 रुपए के आसपास ठहरे हुए हैं। सिर्फ  2    रुपए दाम टूटे हैं। पिछले एक साल में पेट्रोल के दाम 21.3 रुपए और डीजल के दाम 20.94 रुपए तक उछले हैं। इतिहास में पहले कभी इतने ज्यादा दाम नहीं बढ़े। डीलर्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोई ऐसा साल नहीं गया जिसमें पांच रुपए से ज्यादा दाम बढ़े हों। वर्ष 2020-21 में पहली बार पेट्रोल के दाम तीन अंकों में आ गए हैं। इससे आमजन की जेब पर बहुत ज्यादा भार बढ़ गया है। इसके चलते डीलर्स की रोजाना की खपत पर भी गहरा असर सामने आया है। पेट्रोल पर वेट और सेस 33 प्रतिशत लग रहा है। प्रति लीटर अतिरिक्त 4.50 रुपए चुकाना पड़ रहे हैं। डीजल पर वेट और सेस 23 प्रतिशत लग रहा है। इसमें प्रति लीटर अतिरिक्त तीन रुपए देना पड़े रहे हैं। क्रूड ऑइल के दाम पर अब सरकार का नियंत्रण नहीं रहा है।






मई-2020 में 602.50 रुपए थे दाम,फरवरी में चार बार दाम उछला घरेलू गैस सिलेंडर के......
कोरोना संक्रमण के बढ़ते ग्राफ के साथ घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में भी उछाल आया है। पिछले 10 महीने के दाम देखें तो सिलेंडर 266 रुपए महंगा हुआ है। उपभोक्ताओं को सब्सिडी नाममात्र की मिल रही है। पिछले साल अप्रैल में घरेलू सिलेंडर 791.50 रुपए तक बिका था। लॉकडाउन से मई-2020 में सिलेंडर के दाम सीधे 189 रुपए घट गए थे। पूरे महीने सिलेंडर 602.50 रुपए में बिका। अनलॉक होते ही धीरे-धीरे दाम बढऩे लगे। दिसंबर तक सात महीने में ही 141 रुपए तक दाम बढ़ गए थे। आधा दिसंबर बीतने पर दाम औसत से ऊपर हो गए। फरवरी की शुरुआत तक दाम 743.50 रुपए रहे। पहली बार फरवरी में हर 10 दिन में दाम उछलते गए। पूरे एक महीने में सबसे ज्यादा 100 रुपए बढ़े। मार्च में सिलेंडर 25 रुपए और महंगा हो गया। इस तरह पिछले 10 महीने में सिलेंडर के दाम 266 रुपए तक बढ़े हैं। इसमें 5 प्रतिशत जीएसटी शामिल है। कुछ महीने उपभोक्ताओं को सब्सिडी नहीं मिली। कुछ उपभोक्ता कह रहे हैं कि उन्हें अभी 27 रुपए के आसपास सब्सिडी मिल रही है। हालांकि डीलर्स का कहना है हकीकत में सिलेंडर के बिल में सब्सिडी घटकर नहीं दिख रही है। ऐसे में बिल अनुसार उपभोक्ताओं को शून्य सब्सिडी मिल रही है।






-10 महीने में 266 रु. तक महंगा हुआ घरेलू गैस सिलेंडर.....
बढ़ते दामों पर एक नजर......
* वर्ष 2020*
1 अप्रैल                791.50 रुपए
1 मई                   602.50 रुपए
1 जून                  639.00 रुपए
1 जुलाई               641.00 रुपए
1 अगस्त              642.50 रुपए
1 सितंबर             643.50 रुपए
1 अक्टूबर           643.50 रुपए
1 नवंबर              643.50 रुपए
2 दिसंबर             693.50 रुपए
15 दिसंबर           743.50 रुपए
* वर्ष 2021*
1 जनवरी            743.50 रुपए
1 फरवरी             743.50 रुपए
4 फरवरी             768.50 रुपए
15 फरवरी           818.50 रुपए
25 फरवरी           843.50 रुपए
1 मार्च               868.50 रुपए




Share To:

Post A Comment: